द्रोण पत्रिका का हुआ विमोचन, पुरातन छात्रों को मिला रमेश कुमार स्मृति सम्मान।

विद्या निकेतन ग्रुप ऑफ स्कूल्स द्वारा संस्कार विद्या नॉलेज सिटी परिसर में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में द्रोण पत्रिका का विमोचन किया ,साथ ही विद्यालय के पुरातन छात्रों को रमेश कुमार स्मृति सम्मान से नवाजा गया।सांकृतिक कार्यकम में बच्चो द्वारा मनमोहक प्रसूति दी गई।इससे पहले समारोह का उद्घाटन एएसपी अभियान राजेश कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी अनीश अख्तर ,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजकुमार तिवारी, पुलिस इंस्पेक्टर शंभू यादव, भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज के सचिव डॉ प्रकाश चंद्रा, पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष पंकज पासवान आदि ने संयुक्त रूप से किया।इस अवसर पर अतिथियों द्वारा द्रोण पत्रिका का विमोचन भी किया गया।
बच्चो को दें नैतिक शिक्षा पर ध्यान
अपने संबोधन में एएसपी अभियान ने कहा कि बच्चों को नैतिक शिक्षा देने पर भी ध्यान दें।उन्होंने यातायात नियमों एवं नए जुर्माने के बारे में भी जागरूक किए जाने पर बल दिया।एसडीओ ने कहा कि जीवन में सफलता के लिए धैर्य होना जरूरी है। बिना धैर्य के सफलता नहीं मिल सकती। एसडीपीओ ने कहा कि पूरी सृष्टि सापेक्षिक गति में है ।व्यक्तित्व के निर्धारण में गुण और दोष जिम्मेवार होते हैं।विद्या स्वयं में ब्रह्म स्वरूप है। संस्कार धर्म की धूरी है।धर्म वह है जो स्थिति विशेष में धारण किया जाए।यह तब होगा जब लोग संस्कारित होंगे
बेरोजगारी देश की सबसे बड़ी समस्या
भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज के सचिव डॉ प्रकाश चंद्रा ने कहा कि बेरोजगारी देश की सबसे बड़ी समस्या है। यह विश्व के सबसे बड़ा मानव संसाधन की आपूर्ति करता है। हमारे देश के मानव संसाधन विदेशों में जाकर वहां की तरक्की में योगदान दे रहे हैं।जागरूकता की कमी के कारण जनसंख्या बढ़ती जा रही है।उन्होंने संस्था के सीएमडी की सराहना करते हुए कहा है कि उन्हें गर्व है कि उन्हें एक ऐसे गुरु मिले ,जिनसे जीवन भर संबंध बना हुआ है। आज शिक्षा का व्यवसायीकरण हो रहा है और इनसे सीख लेना चाहिए कि सामाजिक दायित्व का निर्वहन किस प्रकार कर सकते हैं। डॉ. नंदजी दुबे ने कहा कि शिक्षक अपने ज्ञान और चरित्र से सबसे अधिक प्रभावित करते हैं ।शिक्षक के अंदर राष्ट्र को दिशा देने की प्रतिभा होती है।शिक्षकों को सम्मान मिलना चाहिए। पटना से आए आर के झा ने कहा कि गुरु शिष्य की परंपरा वैदिक काल से चलती आ रही है ।नवोदय विद्यालय के प्राचार्य डॉ.आरके दुबे ने भी समारोह को संबोधित किया. इस मौके पर सूर्य देव इंटर स्कूल के प्राचार्य डॉ अनिल कुमार मंडल, डॉ. एसपी सुमन, डॉ मनोज कुमार ,संस्था के डीप्टी सीईओ विद्या सागर आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन संस्था के सीईओ आनंद प्रकाश एवं प्रशासक संदीप कुमार ने संयुक्त रूप से किया छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी की गई ।जिसका निर्देशन कला प्रभा संगम के गोविंदा राज ने किया।
पुरातन छात्रों को किया गया सम्मानित
इस समारोह में विद्या निकेतन स्कूल के पुरातन छात्रों को संस्था के सीएमडी सुरेश कुमार गुप्ता एवं अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया।रमेश कुमार स्मृति सम्मान से
सम्मानित होने वालों में भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज के सचिव डॉ प्रकाश चंद्रा, जिला परिषद के पूर्व अध्यक्ष पंकज पासवान, डॉ धीरेंद्र कुमार, पूर्व उप मुख्य पार्षद एवं वार्ड पार्षद कौशलेंद्र कुमार, सिंह, विजन के निदेशक अरविंद कुमार धीरज, बंगलुरु में कार्यरत सतीश कुमार,मार्केंडेय कुमार,उपेन्द्र,संतोष , रवि,ओम कुमार आदि छात्र शामिल रहें।

दिल छू लिया मनमोहक प्रस्तुति ने
संस्था द्वारा निशुल्क शिक्षा मिल रहे प्रिंष कुमार एवं कला प्रभा संगम के कलाकार गोविंदा राज द्वारा माँ तेरा लाडला पर मनमोहक नृत्य प्रस्तुत की गई। इस प्रस्तुति ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। वहीं मार्केंडेय कुमार ने अपने गायन से सभी का दिल जीत लिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.