सिविल सर्जन ने किया अल्ट्रासाउंड केंद्रों निरीक्षण,एक को किया सील


महिला के शिकायत पर सिटी अल्ट्रासाउंड को बंद करा दिया गया था जिसे सही पाते हुए उसे चालू करा दिया गया है।बुधवार को सिविल सर्जन डॉ अमरेंद्र नारायण झा दाउदनगर के विभिन्न अल्ट्रासाउंड केंद्रों की जांच की।इस दौरान दाउदनगर के मौलाबाग रोड स्थित सिटी अल्ट्रासाउंड की जांच की गई, जिसे कुछ महीना पूर्व स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई कार्रवाई में बंद करवा दिया गया था, लेकिन जब बुधवार को इस अल्ट्रासाउंड केंद्र की जांच की गई तो इसे सही पाते हुए इसे चालू करा दिया गया।सिविल सर्जन ने निरीक्षण के बाद अनुमंडल अस्पताल में पत्रकारों को बताया कि मौला बाग निवासी सुनीता कुमारी की शिकायत पर इस अल्ट्रासाउंड केंद्र को बंद करा दिया गया था।लेकिन जब बुधवार को उक्त अल्ट्रासाउंड केंद्र की जांच की गई तो सारे कागजात सही पाए गए। जिसके बाद इस अल्ट्रासाउंड केंद्र को चालू करा दिया गया है।सिविल सर्जन ने बताया कि भखरुआं मोडः तिवारी मुहल्ला स्थित ओम अल्ट्रासाउंड का भी निरीक्षण किया गया है, जहां से चिकित्सकों के पूर्जा भी जब्त किया गया है,जिससे ऐसा लग रहा था कि वहां अल्ट्रासाउंड किया जा रहा था ।इसकी जांच की कर शाम में सील कर दिया गया है।विशाल अल्ट्रासाउंड की भी जांच की गई जो बंद पाया गया ,लेकिन उसकी सूचना विभागीय स्तर पर नहीं मिली थी ।सिविल सर्जन ने बताया कि यह कार्रवाई लगातार जारी रहेगी और कोई भी अल्ट्रासाउंड केंद्र या जांचघर बिना मापदंड एवं बिना रजिस्ट्रेशन के नहीं चल पाएंगे।उन्होंने यह भी बताया कि औरंगाबाद जिले में अभी भी काफी संख्या में अवैध तरीके से पैथोलैब एवं अल्ट्रासाउंड केंद्र चलने की शिकायतें प्राप्त हुई हैं, जिन्हें चिन्हित कर लिया गया है और इसके संचालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की तैयारी चल रही है ।सिविल सर्जन के साथ औरंगाबाद के गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ कुमार महेंद्र प्रताप ,जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ नवल किशोर,दाउदनगर अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ राजेश कुमार सिंह, अस्पताल प्रबंधक ठाकुर चंदन सिंह, पीएचसी के स्वास्थ्य प्रबंधक नेहा सिन्हा भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.