गहराता जा रहा नारायण इंटर स्कूल में विवाद ,दो दिनों से वाहन पर पड़ा है उपस्कर

प्रखंड के प्रखंड शमशेर नगर स्थित नारायण इंटर स्कूल में पिछले कुछ माह से जारी विवाद गहराता जा रहा है।सूत्रों का कहना है कि इस विद्यालय में प्रभारी प्रधानाध्यापक के पद को लेकर विवाद चल रहा है और करीब तीन माह पहले पूर्व प्रभारी प्रधानाध्यापक अमरेंद्र कुमार सिंहा पर करीब पांच लाख रुपया के उपस्कर के सामान के गबन के आरोप में दाउदनगर थाना में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी।इस मामले की पुलिस द्वारा जांच पड़ताल चल रही है। जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के डीपीओ(योजना एवं लेखा) द्वारा पिछले दिनों एक प्रभारी प्रधानाध्यापक को आदेश जारी किया गया है ,जिसमें कहा गया है कि पूर्व प्रधानाध्यापक अमरेंद्र कुमार सिन्हा एवं वर्तमान प्रभारी प्रधानाध्यापक के अभ्यावेदन से प्राप्त पत्र के आलोक में आपूर्तिकर्ता को उपस्कर की राशि का किसी आपूर्तिकर्ता के पास लंबित रहना प्रतीत नहीं होता है ।उपस्कर का सामान विद्यालय में भेजने के लिए एक आदेश डीपीओ द्वारा जारी किया गया ।संबंधित एजेंसी के प्रतिनिधि द्वारा दो दिनों से समान वाहन पर लादकर स्कूल के पास रखा गया है ,लेकिन स्कूल के वर्तमान प्रभारी द्वारा उसे रिसीव नहीं किया जा रहा है और न उतरवाया जा रहा है।मजबूरन इन लोगों द्वारा अकबरपुर गांव में घर के पास वाहन को लगा दिया गया है।रविवार को पुनः जब वे लोग समान लेकर स्कूल पहुंचे तो रविवार को भी उपस्कर का सामान नहीं रिसीव किया गया।बताया जाता है कि पूर्व प्रभारी प्रधानाध्यापक द्वारा डीपीओ औरंगाबाद को दी गई तो डीपीओ ध्रुव नारायण द्वारा दाउदनगर थाना को सूचना दी गई। सूचना मिलने के बाद दाउदनगर थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह ,सब इंस्पेक्टर शेखर सौरभ, राजा राम राय, शौकत खान दल बल के साथ पहुंचे।उपस्कर लेकर पहुंचे वाहन चालकों द्वारा पुलिस को डीपीओ का पत्र दिखाया गया और कहा गया कि वर्तमान प्रभारी प्रधानाध्यापक द्वारा उपस्कर को रिसीव नहीं करने की स्थिति की सूचना जब डीपीओ को मिली तो उन्होंने विद्यालय के शिक्षक अरविंद कुमार को जाकर रिसीव करने का दूरभाष पर निर्देश दिया, लेकिन जब शिक्षक अरविंद कुमार उपस्कर लेकर स्कूल पहुंचे तो प्रभारी प्राचार्य मौजूद नहीं थे।वहां उपस्थित शिक्षक ने चाबी न होने की बात कह दी और इस प्रकार रविवार को भी उपस्कर रिसीव नहीं किया जा सका
। यहां तक की चपरासी ने भी डीपीओ की बात नहीं सुनी और गेट को नहीं खोला गया।इस प्रकार, एक बार फिर से यह विवाद उभर कर सामने अा गया ।फिलहाल यह मामला चर्चा का विषय बना गया बना हुआ है ।इस संबंध में डीपीओ ध्रुव नारायण ने बताया कि उनके आदेश की अवलेहना की गई है। एक सप्ताह के अंदर इस मामले की जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

चाभी के बारे में नही है जानकारी:
वहीं, वर्तमान प्रभारी प्राचार्य रंजन कुमार ने बताया कि वे छुट्टी में है और चाभी के बारे में उन्हें जानकारी नहीं है ।
थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने बताया कि डीपीओ द्वारा दूरभाष पर सूचना मिलने के बाद वे स्कूल के पास पहुंचे थे करीब तीन घंटे तक खड़े रहे ।लेकिन गेट का ताला नहीं खोला गया। फिलहाल पिकअप भान को वापस ले जाने के लिए कह दिया गया है, जब डीपीओ स्वयं यहां आएंगे तो उपस्कर का सामान वहां पहुंचाया जाएगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.