जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा कॉलेज का किया गया निरीक्षण

सोमवार को जिला शिक्षा पदाधिकारी मो. अलीम ने अंकोढ़ा कॉलेज के निरीक्षण करने के बाद एक आदेश निकालते हुए बताया कि इस वर्ष दाउदनगर के अंकोढ़ा कॉलेज में अब इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा नही हो पाएगी।इस कॉलेज के परीक्षार्थी कॉलेज के बगल में ही स्थित सरदार वल्लभभाई पटेल इंटर स्कूल में 15 जनवरी से शुरू होकर 25 जनवरी तक चलने वाले इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा में भाग लेंगे। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कॉलेज के निरीक्षण करने के बाद इस आशय का एक आदेश में निकाला है, जिसमें कहा गया है कि निरीक्षण के क्रम में अंकोढ़ा कॉलेज में प्रायोगिक परीक्षा संबंधित कोई भी सामग्री उपलब्ध नहीं थी, जहां प्रायोगिक परीक्षा की सामग्री है, वहीं प्रायोगिक परीक्षा करानी है। अंकोढ़ा कॉलेज के प्राचार्य को दिए गए आदेश में जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा है कि प्रायोगिक परीक्षा की सामग्री पटेल इंटर स्कूल के प्राप्त प्राचार्य को प्राप्त करा दें, ताकि समय पर परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षा हो सके।साथ ही यह भी आदेश दिया गया है कि महाविद्यालय के छात्रों के सहयोग के लिए पटेल इंटर स्कूल में उपस्थित रहे।इससे पहले सोमवार की दोपहर करीब 12:30 बजे जिला शिक्षा पदाधिकारी मो. अलीम अंकोढ़ा कॉलेज में पहुंच गए और उन्होंने दोनों पक्षों की बात सुनीएक तरफ जहां शासी निकाय के अध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह द्वारा डीईओ के समक्ष अपना पक्ष रखा गया तो वहीं प्राचार्य अवधेश राम द्वारा अपना पक्ष रखा गया।जिला शिक्षा पदाधिकारी ने निरीक्षण के क्रम में प्राचार्य से उपस्थिति पंजी, नामांकन पंजी, शिक्षकों की पंजी, स्थापना विवरणी, शिक्षकों की सूची समेत अन्य कागजातों की मांग की ।विषय वार शिक्षकों के बारे में पूछा।विद्यार्थियों के बारे में पूछा। प्रायोगिक परीक्षा के बारे में पूछा। कमरों की संख्या, शौचालय, पेयजल आदि की स्थिति के बारे में जानकारी ली। जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा कि जब प्रायोगिक उपकरण है ही नहीं तो प्रायोगिक परीक्षा किस प्रकार ली जाएगी। प्राचार्य द्वारा बार-बार यही कहा जा रहा था कि प्रायोगिक परीक्षा संचालित करवा लेंगे ,लेकिन कोई संतोषजनक जवाब उनके द्वारा नहीं दिया जा रहा था। निरीक्षण के दौरान जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कॉलेज परिसर में व्याप्त गंदगी देख भड़कते नज़र आएं।दीवार का प्लास्टर गिरा हुआ था व क्लास रूम में भी गंदगी फैला हुआ था।
पुराना है विवाद:
इस संबंध में पूछे जाने पर जिला शिक्षा पदाधिकारी मो. अलीम ने बताया कि काफी पुराना विवाद चल रहा है।कागजात की मांग की गई है और कागजातों की जांच के उपरांत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.