बालू लदे ट्रैक्टर की चपेट में आकर जिले के उभरते क्रिकेटर अंबुज समेत से दो की मौत ,आधा दर्जन से भी अधिक घायल।

दाउदनगर पटना मुख्य पथ पर बीएड कॉलेज के पास बालू लदे ट्रैक्टर और ऑटो के बीच हुई जोरदार टक्कर में दो की मौत हो गई। जबकि इस सड़क हादसे में करीब आधा दर्जन से भी अधिक लोग घायल हो गए, जिनमें से तीन घायलों का इलाज स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में किया गया और अन्य का इलाज निजी चिकित्सालय में कराया जा रहा है। घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार, शमशेर नगर से एक ऑटो सवारी को लेकर दाउदनगर की ओर आ रही थी। जैसे ही ऑटो बीएड कॉलेज के पास पहुंची तो पीछे से तेज व अनियंत्रित गति से आ रहे बालू लदे ओवरलोड ट्रैक्टर ने ऑटो में जोरदार टक्कर मार दिया।जिससे औरंगाबाद जिले के उभरते क्रिकेटर शहर के पुराना शहर निवासी 25 वर्षीय अंबुज कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई ,जबकि दाउदनगर थाना क्षेत्र के कनाप गांव निवासी 70 वर्षीय बलिराम विश्वकर्मा को गंभीर रूप से घायल अवस्था में दाउदनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई ।सड़क दुर्घटना में अरई उमेर बिगहा निवासी 35 वर्षीय कंचन देवी का इलाज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में किया गया।जबकि शमशेरनगर निवासी 18 वर्षीय श्वेता कुमारी एवं 19 वर्षीय नीतीश कुमार मिश्र का इलाज निजी अस्पताल में किया गया।
मृतक अंबुज एवं घायल नीतीश आपस में ममेरा- फुफेरा भाई हैं
बताया जाता है कि सड़क हादसा को देख कर श्वेता बेहोश हो गई ,जिसका इलाज पीएचसी में किया गया
दुर्घटना को अंजाम देने के बाद बालू लदा ट्रैक्टर का चालक वाहन को लेकर भागने में सफल रहा।
इधर, घटना के बाद काफी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ घटनास्थल पर उमड़ पड़ी।मृतक परिजन भी पहुंच गए। आक्रोशित लोगों ने सड़क को जाम कर दिया।आक्रोशितों सड़क जाम कर अवैध रूप से मौत बनकर सड़कों पर चल रहे अवैध बालू लदे वाहनों पर अंकुश लगाने एवं मृतक के परिजनों को पर्याप्त मुआवजा देने की मांग की।इस दौरान पुलिस प्रशासन एवं ग्रामीणों के बीच हल्की नोकझोंक भी हुई।करीब तीन घंटे तक इस पथ पर आवागमन ठप रहा।एसडीओ अनीस अख्तर,सीओ स्नेहलता कुमारी,थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह समेत अन्य पुलिस पदाधिकारियों ने समझा-बुझाकर सड़क जाम को समाप्त कराया।पुलिस ने दोनों मृतकों के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल औरंगाबाद भेज दिया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.