आवास योजना में ग्रामीण आवास सहायक पर रिश्वत मांगने का आरोप

आवास योजना में ग्रामीण आवास सहायक पर रिश्वत मांगने का आरोप,

ग्रामीण आवास सहायक एवं बिचौलिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज।

दाउदनगर प्रखंड के तरारी ग्राम पंचायत के आवास सहायक पर बिचौलिया के माध्यम से कथित रूप से आवास योजना आवंटन में कथित रूप से रिश्वत मांगे जाने का मामला सामने आया है।इस संबंध में तरारी पंचायत के ही एक ग्रामीण द्वारा दायर परिवाद पर जांच के बाद एसडीओ तनय सुल्तानिया के आदेशानुसार दाउदनगर बीडीओ जफर इमाम द्वारा एक प्राथमिकी दाउदनगर थाना में दर्ज करायी गई है।दर्ज प्राथमिकी में तरारी पंचायत के ग्रामीण आवास सहायक रागिनी कुमारी एवं तरारी अंबेडकरनगर निवासी सुबोध कुमार को नामजद आरोपित बनाया गया है
दर्ज प्राथमिकी में बीडीओ ने कहा है कि ग्रामीणों ने परिवाद दायर किया है कि तरारी के ग्रामीण आवास सहायक रागनी कुमारी के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटन के लिए बिचौलिया सुबोध कुमार के माध्यम से राशि की मांग की गई है। परिवादी द्वारा उक्त संबंधित हुई वार्ता का ऑडियो क्लिप भी उपलब्ध कराया गया है ,जिसकी जांच एसडीओ द्वारा करायी गई थी। जांच के क्रम में ग्रामीण आवास सहायक एवं ग्रामीण के बीच हुई वार्ता को सही पाया गया।थानाध्यक्ष विश्वमोहन चौधरी ने बताया कि मामले की तहकीकात की जा रही है। इस संबंध में पूछे जाने पर प्रखंड विकास पदाधिकारी जफर इमाम ने बताया कि उन्होंने प्रतिवेदन तैयार कर अनुमंडल पदाधिकारी कार्यालय में भेज दिया है ।जैसा निर्देश आएगा, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

ऑडियो क्लिप की कुछ अंश:
ऑडियो में साफ पता चल रहा है कि पैसे की मांग हो रही है हालाँकि पोर्टल यह पुष्टि नही करता है कि यह सही है या गलत।

ग्रामीण द्वारा पूछा जाता है कि लाभुक का पैसा जमा होना था। ओरिजिनल पासबुक भी रखे हैं। दूसरे दिन मिल जाएगा क्या ..तो आवास सहायक द्वारा कहा जा रहा है कि सुबोध से बात हुई थी क्या..आवास सहायक द्वारा पूछा जाता है कि आपका किस बैंक में खाता है।ग्रामीण द्वारा बताया जाता है कि एसबीआई में शाखा है।आवास सहायक कहती है कि जो बोले हैं, वह निकाल कर दे दीजिएगा।उसके बाद पासबुक ले जाइयेगा।तब ग्रामीण द्वारा कहा जाता है कि 15 हजार बोले हैं देने के लिए।क्या पूरा एक बार ही दे देना है। आवास सहायक द्वारा कहा जाता है कि हां एक ही बार देना है।उसके बाद काम लगाइए और फटाफट काम कराते जाइए जो भी है एक ही बार लेंगे, तब ग्रामीण कहता है कि क्या 15 हजार एक बार देंगे, तभी पासबुक मिलेगा तो आवास सहायक कहती है कि ऐसा कुछ नहीं है आप ऐसे भी ले जा सकते हैं ।तब ग्रामीण कहता है कि और लोग कहते हैं कि 15 हजार अधिक कमीशन लिया जा रहा है तो आवास से कहती है कि और लोग तो 20 से 25 लेता है।हम तो कम ले रहे हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.