दाउदनगर में एक ऐसा मुहल्ला जहाँ नाली का पानी सड़क पर

दाउदनगर नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड संख्या 23 एवं 24 स्थित अफीम कोठी मुहल्ले में इन दिनों सड़क पर नाली बह रहा है। जिससे मुहल्ले वालों को इस समस्या से रूबरू होना पड़ रहा है। कई नागरिकों का कहना है कि अब तो घरों में भी नाली का पानी घुसना शुरू हो गया है स्थानीय नागरिकों का कहना है कि यह समस्या तो कई वर्षों से कायम है, लेकिन इधर करीब एक पखवाड़े से भी अधिक समय से गड़ही का जमा पानी नाली से होते हुए सड़क पर गया है आसपास के घरों का पानी भी नाली से ओवरफ्लो होकर सड़क पर रहा है।कई लोगों के घरों में तो नाली का पानी भी घुसना शुरू हो गया है।वार्ड संख्या 24 के वार्ड पार्षद एवं नप के पूर्व उप मुख्य पार्षद कौशलेंद्र कुमार सिंह एवं वार्ड संख्या 23 के वार्ड पार्षद प्रतिनिधि विजय कुमार चंद्रवंशी से मुहल्ला वासी समस्या को बता रहे थे इस मुहल्ले में जलजमाव की समस्या कोई नई नही है।बताया जाता है कि गड़ही में वार्ड संख्या एक,10,11, 23 24 के घरों का पानी गिरता है। चूंकि शहर में ड्रेनेज सिस्टम सही हालत में नहीं है ,जिसके कारण जल निकासी की समस्या व्याप्त है और इसी समस्या से यह इलाका भी जुड़ा हुआ है स्थानीय लोगों ने बताया कि गड़ही के पास कुछ निजी जमीन पर भरावट हो जाने के बाद अब गड़ही का पानी ओवरफ्लो होकर दक्षिण दिशा की नाली से निकल कर अफीम कोठी मुहल्ले में रहा है और सड़क पर जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। स्थानीय निवासी अब्दुल गफ्फार ,शकीला खातून, रईसा खातून ,हसीना खातून, अनवरी खातून, खुर्शीदा खातून, नूरैशा खातून आदि ने बताया कि करीब 15 दिनों से यह स्थिति उत्पन्न हो गई है। बरसात के दिनों में तो स्थिति और ही नारकीय हो जाती है, लेकिन इस समस्या का समाधान निकलता नहीं दिख रहा है इस सबंध में पूछे जाने पर पूर्व उप मुख्य पार्षद एवं वार्ड संख्या 24 के वार्ड पार्षद कौशलेंद्र कुमार सिंह ने नगर परिषद पर उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व के बोर्ड में ही मौलाबाग मोड़ से पचकठवा होते हुए सोन तराई क्षेत्र तक नाला निर्माण की योजना स्वीकृत है।इस योजना को बिहार सरकार द्वारा भी स्वीकृति मिल गई है ,लेकिन नगर परिषद की उपेक्षा के कारण इसके कार्यान्वयन की दिशा में आगे कार्रवाई नहीं हो पा रही है और इस समस्या से स्थानीय लोगों को त्रस्त होना पड़ रहा है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.