खेल में अनुशासन सफलता का मूल मंत्र


खेल में अनुशासन और समर्पण सफलता का मूल मंत्र है । खेल में हार जीत लगी रहती है।उक्त बातें अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजकुमार तिवारी ने राष्ट्रीय इंटर स्कूल के खेल मैदान पर अंतर विद्यालय क्रिकेट प्रतियोगिता में खिलाड़ियों को पुरस्कृत करते हुए कही।यह आयोजन विद्या निकेतन ग्रुप्स ऑफ स्कूल्स के तत्वाधान में आयोजित साहस 2018 के तहत किया गया था।यह मुकाबला विद्या निकेतन एवं संस्कार विद्या की टीम के बीच हुआ ।टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए विद्या निकेतन की टीम ने निर्धारित 12 ओवरों में चार विकेट खोकर 146 रन बनाये, जवाब में खेलने उतरी संस्कार विद्या की टीम नौ विकेट खोकर 120 रन ही बना सकी और विद्या निकेतन की टीम 26 रनों से विजयी रही ।मुख्य अतिथि अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजकुमार तिवारी ने विजेता टीम को कप प्रदान कर पुरस्कृत किया।उन्होंने कहा कि खेल में अनुशासन और समर्पण सफलता का मूल मंत्र है ।इस मौके पर पुलिस इंस्पेक्टर के के साहनी, कपिल रंजन ,संस्था के सीईओ आनंद प्रकाश ,डिप्टी सीईओ विद्यासागर, प्रशासक संदीप कुमार, प्राचार्य मोजाहिर आलम, शिक्षक राजीव बल्लभ,अरविंद कुमार ,अविनाश कुमार ,रहमान आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.