यूवक की हत्या में शामिल प्रेमिका और उसका पति हुआ गिरफ्तार

एक मां से बेटा छीन जाना इससे बड़ा दुख की क्या बात हो सकती है,जिस घर मे छठ पर्व हो रहा हो उसी दिन बेटे का खोना जाना इससे बढ़कर दुख क्या हो सकता है।
छठ की पहली अर्ध्य यानी 13 नवंबर की शाम दाउदनगर शहर के काली स्थान के पास से गायब हुए हसपुरा थाना के धमनी निवासी एवं वर्तमान में दाउदनगर शहर के वार्ड संख्या 12 शुक बाजार खत्री टोला निवासी उर्मिला देवी के पुत्र 20 वर्षीय पुत्र हर्षित प्रकाश उर्फ मोना की हत्या प्रेम प्रसंग में उसकी प्रेमिका के पति ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर कर दी है।प्रेमिका के पति को गिरफ्तार कर लिया गया है।पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान करते हुए इस हत्याकांड का खुलासा कर लिया है तथा प्रेमिका के पति देव थाना क्षेत्र के दत्तु बिगहा निवासी कमलेश यादव को गिरफ्तार करते हुए साजिश में शामिल होने वाली प्रेमिका को भी गिरफ्तार किया गया है।हत्याकांड में शामिल अन्य सहयोगियों को चिन्हित करते हुए उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। मृतक के दूसरे मोबाइल एवं प्रेमिका के मोबाइल को पुलिस खोज रही है और इसके लिए उस कुएं का पानी निकलवाया जा रहा है ,जिस कुएं से मृतक का शव बरामद किया गया है। उक्त बातें एसडीपीओ राजकुमार तिवारी ने रविवार की शाम अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित एक प्रेस वार्ता में इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए कही।एसडीपीओ ने कहा कि मृतक के जिन दोस्तों को मृतक की मां द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी में नामजद अभियुक्त बनाया गया था,उन सभी नामजद अभियुक्तों की संलिप्तता का कोई साक्ष्य अब तक नहीं मिला है। प्राथमिकी में नामजद बनाये गए सभी अभियुक्त मृतक के दोस्त हैं और मृतक के कहने पर ही उसके साथ देव गए थे।एसडीपीओ ने बताया कि 15 नवंबर को प्राथमिकी दर्ज होने के बाद मृतक के नामजद दोस्तों में से चार दोस्तों को पुलिस ने थाना लाकर पूछताछ किया ।पूछताछ के क्रम में दोस्तों ने बताया कि मृतक ने इन लोगों को बुलाया था और 10 नवंबर से ही वह देव चलने की बात कह रहा था ।13 नवंबर को जब मृतक की मां सोन नदी से अर्ध्य देकर लौट रही थी तो काली मंदिर के पास से मृतक समेत कुल छह युवक तीन बाइक पर सवार होकर देव के लिए रवाना हुए।इनलोगों ने बाइक को बेलसारा मोड़ पर खड़ा कर देव हॉस्पिटल रोड होते हुए सभी दत्तू बिगहा के पास पहुंच गए
प्रेमिका के घर से करीब 50 मीटर की दूरी पर मृतक के दोस्त रूक गए और हर्षित यह बोलकर चला गया कि वह अपनी प्रेमिका से मिलकर आ रहा है ।आधा घंटा बाद नहीं लौटने के बाद जब फोन लगाया गया तो उसका फोन बंद बता रहा था ,जिसके बाद उसके दोस्तों की बेचैनी बढ़ गई
।उसके सारे दोस्त किशोरवय उम्र के नौजवान हैं,इसलिये वे पूछने की हिम्मत नहीं जुटा पाए।देव छठ मेला में खोजबीन करने के बाद सुबह में ये लोग वापस दाउदनगर आ गए और किसी दूसरे के माध्यम से मृतक के मामा को खबर भेजवाया। एसडीपीओ ने बताया कि मृतक के परिजनों ने भी देव जाकर छानबीन की। एफ आई आर दर्ज होने के बाद मृतक और उसके दोस्तों के मोबाइल का ट्रेस निकलवाया गया, मृतक के दूसरे मोबाइल नंबर पर लड़की से लगातार बात हो रही थी।जब यह बात स्थापित हो गई कि युवक के साथ किसी अनहोनी घटना महिला के घरवालों द्वारा कर दी गई है तब 16 नवंबर की रात्रि कमलेश यादव को पकड़ कर दाउदनगर थाना लाया गया और जब उससे कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात स्वीकार करते हुए पुलिस को बताया कि उसने मुंह और गला दबाकर 13 नवंबर की रात में ही अपने अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर हर्षित प्रकाश उर्फ मोना की हत्या कर दी है।हर्षित देव पहुंचने के बाद घर से सटे अरहर के खेत में जैसे ही अपनी प्रेमिका से मिलने पहुंचा और उसके सहयोगियों ने उसे पकड़ लिया और वहां से करीब आधा किलोमीटर दूर ले जाकर उसकी हत्या कर दी और बोरा में बंद कर ईंटा बांधकर उसे कुएं में डाल दिया।एसडीपीओ ने बताया कि हर्षित प्रकाश और उसकी प्रेमिका का प्रेम उसकी प्रेमिका के विवाह के पूर्व से ही चलता आ रहा था ।जब प्रेमिका की शादी हो गई तब भी बात होती रही।प्रेमिका के पति कमलेश यादव को अपनी पत्नी पर शक हुआ तो उसने अपनी पत्नी को कॉल रिकॉर्डर वाला मोबाइल ला कर दे दिया ।मृतक और उसकी प्रेमिका के बीच हुई बातचीत का रिकॉर्ड सुनने के बाद उसे पता चल गया कि दोनों के बीच अवैध संबंध है।।कमलेश ने पुलिस को बताया कि जब वह अपने ससुराल दाउदनगर आता था तो दो-तीन बार मृतक और उसके अन्य सहयोगियों द्वारा उसका पीछा भी किया जाने लगा और जान मारने की धमकी भी दी जाने लगी। तब उसके दिमाग में हत्या का ख्याल आया और उसने अपनी पत्नी पर दबाव बनाकर पत्नी के माध्यम से हर्षित प्रकाश उर्फ मोनाको दो बुलवाया और उसकी निर्मम हत्या कर दी। इस प्रेस वार्ता में दाउदनगर थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह, सब इंस्पेक्टर सुधीर कुमार सिन्हा, शेखर सौरभ एवं अरविंद कुमार भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.