Sports in Daudnagar

मुख्यतः यहाँ पे क्रिकेट तथा फुटबॉल लोकप्रिय खेल है। सबसे पुराना फुटबॉल का स्पोर्टिंग क्लब आज़ाद स्पोर्टिंग क्लब है जो काफी प्रभावशाली रहा था। उस क्लब के तत्कालीन कॅप्टन श्री काशिम अंसारी के मुताबिक पश्चिम बंगाल की टीम फुटबॉल खेलने दाउदनगर आ चुकी है।

क्रिकेट की बात करें तो सबसे पुरानी क्रिकेट टीमों में नेशनल क्रिकेट क्लब (कप्तान मनोज कुमार), नेहरू क्रिकेट क्लब (कप्तान सुनील पांडेय), अशोक युथ क्रिकेट क्लब(कप्तान अरविन्द जी) तथा बाउंसर क्रिकेट क्लब (कप्तान कौशलेंद्र सिंह) अपनी अपनी टीम को लीड कर चुके हैं।

नेशनल क्रिकेट क्लब (NCC) और बाउंसर क्रिकेट क्लब (BCC) ने दो-दो बार जिला स्तरीय टूर्नामेंट के फाइनल में खेला और दोनों ही एक-एक बार जीत दर्ज कराये थे।

क्रिकेट के इसी लालसा ने ईशान किशन (पैतृक ग्राम गोरडीहा) जैसे खिलाड़ी को निखारा है। ईशान किशन देश के लिए अंडर नाइन्टीन क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारत की कप्तानी कर चुके हैं। उन्हें दाउदनगर रत्न से भी नवाज़ा गया है।

इन दो खेलों के अलावा यहाँ के लोग पतंगबाजी, बैडमिंटन, कबड्डी, गिल्ली-डंडा, कंचे खेलना पसंद करते हैं। खेल के लिए लोग अशोक फिल्ड, बी-टीम, राष्ट्रीय इण्टर स्कूल स्टेडियम, कालीस्थान का मैदान तथा रौज़ा का मैदान (जो अब पूर्ण रूप से क़ब्रिस्तान बन गया है) इस्तेमाल करते आ रहे हैं।

लड़कियों के बीच कीत-कीत, गोटी जैसे खेलों का प्रचलन है।