Archive For The “Janta ki Awaaz” Category

जनता की आवाज़- अधिकार चाहिए तो कर्तव्य के प्रति रहें जागरुक

By |

जनता की आवाज़- अधिकार चाहिए तो कर्तव्य के प्रति रहें जागरुक

जनता को बिजली जैसी मूलभूत सुविधा सुचारु पूर्वक चाहिए, लेकिन बिल भुगतान की जो स्थिति है उसे देख कर यही कहा जा सकता है कि हम अपने अधिकार के प्रति तो जागरुक हैं परंतु इसी प्रकार की जागरुकता अपने कर्तव्य के प्रति नहीं दीखाते। यह हर क्षेत्र में देखा जा रहा है। यहां पर मैं…

Read more »

जनता की आवाज़ : कार्य अवधि के अंदर नहीं हो रहा लोक शिकायत का निष्पादन

By |

जनता की आवाज़ : कार्य अवधि के अंदर नहीं हो रहा लोक शिकायत का निष्पादन

आदरणीय मुख्यमंत्री जी, मैं आपकी कुशल नेतृत्व, उपयोगी कार्यक्षमता एवं अदम्य साहस के कायल हूँ। जिस तरह से आपने आमजन के हितार्थ एक से बढ़कर एक योजनाओं की शुरुआत कर एक कुशल शासक होने का परिचय दिया है, वहीं दूसरी तरफ बिहार मे पूर्णतः शराब बंद कर अपने अदम्य साहस का लोहा मनवाते हुए बिहार…

Read more »

जनता की आवाज़ : जनता के पैसों से चलता है बैंक, फिर जनता को ही इतनी परेशानी क्यों?

By |

जनता की आवाज़ : जनता के पैसों से चलता है बैंक, फिर जनता को ही इतनी परेशानी क्यों?

एक सवाल सरकार से :- मैंने किताब में पढ़ा था एक शब्द फंडामेंटल राइट जिसका अर्थ होता मौलीक अधिकार। सरकार के आदेशानुसार आप अपना पैसा घर में नहीं बैंक में रखे ताकि वो पैसा का उपयोग हो।  ठीक है, बहुत अच्छी बात है की पैसा घर में नहीं रखे बैंक में रखे ताकि वो पैसा…

Read more »

जनता की आवाज़ : नोटों की किल्लत से जूझता आम आदमी

By |

जनता की आवाज़ : नोटों की किल्लत से जूझता आम आदमी

शादी-विवाह का मौसम और नोटों की बहुत बड़ी किल्लत, आखिर आम आदमी ही क्यों पीस जाता है सरकारी व्यवस्थाओं के बीच? आजकल भारतीय स्टेट बैंक में पैसों की मारामारी चल रही है, और ग्राहक मुँह बाये अपनी किस्मत को ही जिम्मेदार मान रहें हैं, कारण और कोई नजर ही नही आ रहा है, जिसे वह…

Read more »

जनता की आवाज़ : अब खूब खाईए दाल, सालों बाद कीमत हुई कम

By |

जनता की आवाज़ : अब खूब खाईए दाल, सालों बाद कीमत हुई कम

दाउदनगर सहित बिहार के सभी बाजारों में अरहर समेत सभी दाल की कीमतें तेजी से कम हुई हैं। खुदरा बाजार में अरहर 72 तो मसूर दाल 60 रुपए किलो हो चुकी है।दलदली अनाज मंडी में खुदरा भाव में चना दाल 76 से 85 तो उरद दाल भी 90 से 100 रुपए प्रति किलो के अंदर…

Read more »

जनता की आवाज़ : नगर पंचायत की स्थिति है लचर, तत्काल जायजा ले करें इंतजाम

By |

जनता की आवाज़ : नगर पंचायत की स्थिति है लचर, तत्काल जायजा ले करें इंतजाम

अब इंतजार की घड़ी समाप्त हो चुकी है, और मौसम दिन-प्रतिदिन रूख करता जा रहा है। कुछ ही दिनों में कड़ाके की गर्मी पड़ने वाली है, औेर आप बेहतर समझते होंगे कि उस मौसम में हलक का क्या हालात हो जाता है। ऐसे में तपिस बढ़ाने वाली गर्मी में चार कदम चलते ही हलक सूख…

Read more »

जनता की आवाज़ : कॉलेज में लगी वाईफाई, लेकिन पढ़ाई नही

By |

जनता की आवाज़ : कॉलेज में लगी वाईफाई, लेकिन पढ़ाई नही

दाउदनगर स्थित मगध विश्वविद्यालय के अंगीभूत दाउदनगर कॉलेज दाउदनगर, जो लगातार संघर्ष के बाद भी अपने जिद पर कायम है। इस कॉलेज के माता-पिता (शिक्षक) शायद कभी नही सोचते, कि हमारे बच्चे (छात्र-छात्रा) पढ़े। अगर इस पर मंथन कर लें, तो परिणाम शून्य नही होगी और कदाचारमुक्त परीक्षा में काफी सहायक साबित होगी। कॉलेज में…

Read more »

जनता की आवाज : स्वयं निष्कर्ष निकालें लोक शिकायत निवारण अधिनियम का व्यावहारिक सच्चाई

By |

जनता की आवाज : स्वयं निष्कर्ष निकालें लोक शिकायत निवारण अधिनियम का व्यावहारिक सच्चाई

माननीय मुख्यमंत्री जी, आपकी प्रशासनिक क्षमता और लोक-कल्याणकारी कार्यक्रम वाकई प्रशंसनीय हैं और पूर्ववर्त्ती सरकारों से अलग आपने बिहार के विकास हेतु बहुत कुछ किया है, पर जनाकांक्षा को तृप्त कर पाना शायद कभी संभव न हो। मैंने आपके भाषणों से प्रेरित होकर लोक शिकायत निवारण कानून से अपने आस-पास के कुछ समस्याओं  के निवारण…

Read more »

जनता की आवाज़ : हम ही क्यों कैशलेस हो, राजनेता क्यों नही?

By |

जनता की आवाज़ : हम ही क्यों कैशलेस हो, राजनेता क्यों नही?

                  हमारे पैसे, हमारे अपने हैं। उन्हें हम नगद खर्च करें या इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से, यह हमारी मर्ज़ी है। यदि देश की सरकार को कैशलेस व्यवस्था लागू करने की इतनी ही जल्दबाजी है तो बेहतर होगा कि वह इसकी शुरूआत ख़ुद करें। तत्पश्चात हमारे आगे उदाहरण उपस्थित…

Read more »

जनता की आवाज़: पूर्ण शराबबंदी पर सरकार को सख़्त क़ानून बनाकर सख़्ती से पेश आना चाहिए

By |

जनता की आवाज़: पूर्ण शराबबंदी पर सरकार को सख़्त क़ानून बनाकर सख़्ती से पेश आना चाहिए

  शराबबंदी के पक्ष में हम सब है हम पुरे बिहार वासी ये चाहते हैं कि शराबबंदी के लिए शख्त कानून बने और उसका शख्ती से पालन किया जाए इसके लिए सिर्फ कोई एक आदमी नहीं बल्कि पूरा बिहार लड़ा है, खासकर महिलाएं शराबबंदी की लड़ाई में वर्षो से बड़ी संख्या में शामिल होती रही…

Read more »