शिक्षकों की लंबित समस्याओं के समाधान की मांग, दिया गया धरना।


शनिवार को प्रखंड कार्यालय के समक्ष बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ(गोप गुट) द्वारा धरना देते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी से प्रखंड स्तर पर शिक्षकों एवं कर्मचारियों की लंबित समस्याओं के समाधान की मांग की गई ।वक्ताओं ने कहा कि समस्याओं के समाधान के लिए संघ द्वारा कई बार प्रयास किया गया ,परंतु उसका समाधान नहीं हुआ है।इसलिए समस्या समाधान के लिए धरना देते हुए मांग पत्र समर्पित किया जा रहा है ।धरना के बाद सात सूत्री मांगों से संबंधित एक ज्ञापन भी प्रखंड कार्यालय में दिया गया ।जिसमें प्रधान सचिव शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में यथाशीघ्र शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य से मुक्त करने, प्रखंड कार्यालय में प्रतिनियुक्त शिक्षकों को मूल विद्यालय में भेजने, प्रत्येक दिन पूर्वाहन नौ बजे से पहले पोषक क्षेत्र में नारा लगाने जाने संबंधित बीडीओ के निर्देश को वापस लेने, शिक्षकों के साथ कथित अमर्यादित भाषा का प्रयोग नहीं करने, दो-दो शौचालय निर्माण हेतु दिए गए निर्देश को वापस लेने, तुगलकी फरमान जारी करने पर यथाशीघ्र रोक लगाने, नियोजित शिक्षकों का टेट का मूल प्रमाण पत्र वापस करने की मांग की गई है।यह मांग पत्र प्रखंड कार्यालय में महासंघ के प्रखंड सचिव रणजीत कुमार रत्ना के हस्ताक्षर से दी गई।इस मौके पर महासंघ के महासचिव नागेंद्र सिंह ,जिलाध्यक्ष डॉ. मधेश्वर सिंह ,जिला सचिव गोपाल प्रसाद गुप्ता, पूर्व अध्यक्ष नवल किशोर, टेट अध्यक्ष बसंत कुमार, प्रखंड अध्यक्ष खुर्शीद आलम, अमित कुमार सुमन, संतोष कुमार ,अरुण कुमार ,रामाकांत सिंह ,दीपक कुमार टापू, सच्चिदानंद सिंह, संतोष कुमार, मनोज कुमार ,विकास कुमार आदि उपस्थित रहे

Leave a Reply