दाउदनगर उत्सव ने लिख दिया नया इतिहास।

पुराना शहर स्थित दाउद खां के ऐतिहासिक किला परिसर में वेब पॉर्टल दाउदनगर डॉट इन द्वारा आयोजित दाउदनगर उत्सव ने एक नया इतिहास लिख दिया। एक नई परम्परा की शुरुआत करते हुए नए तरीके से डिजिटल ढंग से दाउदनगर की आत्मकथा” मैं दाउदनगर हूं “का ऑडियो बजा कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई, जिसमें दाउदनगर के ऐतिहासिक पहलुओं को संजोया गया है।दाउदनगर उत्सव मनाने के लिए पूरी तरह तकनीक का इस्तेमाल किया गया। गुब्बारे हैंड बैंड ,मेडल एवं भेंट किए जाने वाले कप पर भी दाउदनगर उत्सव प्रिंट किया हुआ था। कंप्यूटर क्वीज, दाउदनगर मेरा प्यार, गायन एवं नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया, जिसमें सभी प्रतिभागियों ने अपनी कला से उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
कार्यक्रम की सम्बोधित करते हुए एसडीपीओ राजकुमार तिवारी ने कहा कि अपने ऐतिहासिक धरोहरों को संरक्षित करने की जरुरत है।इसकी आवश्यकता है कि पहले दाउद खां ऐतिहासिक किला धरोहर संरक्षित इमारतों की श्रेणी में आ जाए। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत जिला पदाधिकारी के माध्यम से की जा सकती है ।जब कोई एक चीज आगे बढ़ जायेगी तो वह अपने उत्कर्ष को प्राप्त कर लेगी, अपने मंजिल को प्राप्त कर लेगी। यह शहर पुरानी संस्कृति का वाहक रहा है ।यहां कई तरह की लोक कलाएं देखने को मिलती हैं जो बाहर में बहुत कम दिखाई पड़ती हैं ।कुछ लोक कलाओं का विरासत आपको धनी बनाता है, उसको सहेजने की जरूरत है। इंसान को न केवल अपने पुरखों की बल्कि पुरखों की कृतियों को भी याद रखना चाहिये।

गुब्बारा उड़ा कर हुआ उर्द्घाटन:
इससे पहले एसडीओ अनीश अख्तर ने गुब्बारा उड़ाकर दाउदनगर उत्सव का उद्घाटन किया।उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि इस आयोजन से एक लाभ यह भी हुआ है कि जिन लोगों ने ऐतिहासिक किला को नहीं देखा था, उन्हें भी देखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है ।युवाओं का उत्साह बढ़ाते हुए एसडीओ ने कहा कि युवा शक्ति ऐसे कार्यक्रम के लिए आगे आ रही है, यह सराहनीय है। युवाओं में ऊर्जा है ,नया आईडिया है ,नया विचार है, जोश और जज्बा भी है।
सपना पूरा करना नहीं है कठिन:
भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बी एड कॉलेज के सचिव डॉ प्रकाश चंद्रा ने कहा कि दाउद खां का ऐतिहासिक किला अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहा था ।अब इसके उत्थान की दिशा में सकारात्मक प्रयास हो रहा है। उन्होंने युवाओं से कहा कि सपना पूरा करना कठिन नहीं है ,बल्कि इच्छाशक्ति रहनी चाहिए। युवाओं को भटकाव से बचाने के लिए उन्हें रचनात्मक कार्यों में लगाया जाना चाहिए।भाजपा के जिला प्रवक्ता अश्विनी कुमार तिवारी ने अपने संबोधन में इस कार्यक्रम की सराहना की।उदघाटन कार्यक्रम में उपेन्द्र कश्यप,समाजसेवी चिंटु मिश्रा भी मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन औरंगाबाद जिले के वरिष्ठ रंगकर्मी एवं फिल्म निर्देशक आफताब राणा ने किया। विद्या निकेतन ग्रुप्स ऑफ स्कूल के सीएमडी सुरेश कुमार गुप्ता ,सीईओ आनंद प्रकाश ने उत्सव की जमकर प्रंशसा की।इस मौके पर वरिष्ठ होम्योपैथ चिकित्सक डॉ मनोज कुमार ,उप मुख्य पार्षद पुष्पा देवी, पूर्व वार्ड पार्षद केदारनाथ सिंह, जदयू सेवा दल के जिलाध्यक्ष शैलेश कुमार यादव ,शिक्षक एवं वरिष्ठ रंगकर्मी दीनू प्रसाद ,पूर्व मुख्य पार्षद परमानंद प्रसाद ,प्रख्यात कलाकार राजा मंडल,डांस मास्टर वीक्की राज ,मास्टर भोलू,संजय,सुशील पुष्प मौजूद रहे।प्रतियोगिता के संचालन में वरिष्ठ रंगकर्मी आफताब राणा का साथ रंगकर्मी संदीप सिंह एवं एस अमन ने दिया।

Leave a Reply