हड़ताल का दिखा प्रभाव ,मात्र 84 महिलाओं की हुई जांच


:प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत आयोजित विशेष शिविर के दौरान आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की अनिश्चितकालीन हड़ताल का असर देखने को मिला। यह विशेष शिविर प्रत्येक महीने के नौ तारीख को लगाया जाता है ।नौ दिसंबर को रविवार होने के कारण यह शिविर सोमवार को लगाया गया, जिसमें पहुंचने वाली गर्भवती महिलाओं के रजिस्ट्रेशन के साथ-साथ चिकित्सकों द्वारा उनकी जांच की गई एवं आवश्यक चिकित्सीय सलाह दिया गया. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दाउदनगर में सन्नाटा पसरा दिखा ।रजिस्ट्रेशन काउंटर पर भीड़ न के बराबर देखने को मिली. चिकित्सक डॉ उपेंद्र कुमार सिंह,डा. विनोद प्रसाद शर्मा एवं डा.अबू हयान ने ओपीडी में मरीजों के देखने के साथ- साथ गर्भवती महिलाओं की जांच करते हुए उन्हें आवश्यक चिकित्सीय सलाह दिया।दाउदनगर पीएचसी में मात्र 18 गर्भवती महिलाओं की जांच हो सकी। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक नेहा सिन्हा आदि उपस्थित थे।अनुमंडल अस्पताल में डॉ पूनम सिंह एवं डा. रश्मि कुमारी द्वारा गर्भवती महिलाओं की जांच की गई और उन्हें आवश्यक चिकित्सीय सलाह दी गई। अनुमंडल अस्पताल दाउदनगर के उपाधीक्षक डॉ राजेश कुमार सिंह ने बताया कि गर्भवती महिलाओं की जांच करने के साथ-साथ उन्हें आवश्यक चिकत्सीय सलाह व दवायें प्रदान की गई ।इस मौके पर अस्पताल प्रबंधक ठाकुर चंदन सिंह ,केयर के प्रखंड प्रबंधक मृत्युंजय कुमार आदि उपस्थित थे।यहां भी पूर्व की अपेक्षा भीड़-भाड़ न के बराबर देखने को मिला
अस्पताल उपाधीक्षक ने स्वीकार किया कि आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के हड़ताल के कारण शिविर भी प्रभावित हुआ है।

Leave a Reply