जैविक खादों के प्रयोग से बढ़ता है मृदा का जैविक स्तर


अनुमंडल कार्यालय परिसर स्थित कृषि विकास विभाग के ई किसान भवन में विश्व मृदा दिवस के अवसर पर आयोजित मृदा कार्ड वितरण शिविर में प्रखंड कृषि पदाधिकारी अनिल कुमार ने कहा कि मृदा को संतुलित और उपजाऊ बनाने के लिए जैविक खादों के प्रयोग से मृदा के जैविक स्तर बढ़ जाता है, जिससे लाभकारी जीवाणु की संख्या बढ़ जाती है और मृदा काफी उपजाऊ बनी रहती है ।इस शिविर का उद्घाटन बीएओ के अलावे आत्मा के पूर्व प्रखंड अध्यक्ष योगेंद्र सिंह, कृषि समन्वयक शैलेंद्र कुमार विरल, डा. संजय कुमार एवं धर्मेंद्र कुमार आदि ने संयुक्त रूप से किया ।कृषि समन्वयक डॉ संजय कुमार ने मिट्टी को स्वस्थ रखने का उपाय बताते हुए कहा कि फसल उत्पादन से मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी पाई जा रही है जो मिट्टी के जांच के आधार पर निर्धारण किया जाता है। मिट्टी में जिंक सल्फर एवं बोरोन की काफी कमी है.जिंक एवं सल्फर की कमी से पौधों की पत्तियां पीली पड़ जाती हैं।बोरोन तत्व की कमी से फूल झड़ जाता है ।फलियां प्रारंभिक अवस्था में गिर जाता है।आम,अमरुद,टमाटर,गोभी,बैगन,छोटा,छोटा रह जाता है एवं फल फट जाता है।वहीं, कृषि समन्यवक शैलेंद्र कुमार विरल ने खेतों से मिट्टी का नमूना लेने का तरीका बताया तथा पौधों के अवशेष को खेतों में नही जलाने का सलाह देते हुए कहा कि इससे खेतों में तथा मिट्टी में जल धारण की क्षमता बढती है।कृषि समन्यवक धर्मेंद्र कुमार ने सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में बताते हुए कहा कि पोषक तत्वों की कमी से खैरा रोग लगने की संभावना रहती है,पोटाश की कमी से दाना पुष्ट और चमकदार नही हो पाता है।शिविर में मृदा कार्ड वितरण भाजपा के दाउदनगर मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र यादव एवं प्रखंड कृषि पदाधिकारी द्वारा किया गया।इस मौके पर किसान सलाहकार आलोक टंडन,चन्दन कुमार,संजीत सिंह,अनुपलाल,शशीभूषण,प्रमोद महरा,योगेंद्र कुमार,चितरंजन कुमार,अमरेंद्र पांडेय,सत्येंद्र सिंह,संतोष कुमार,सुजीत दुबे,कृषि समन्वयक अमित कुमार के अलावे विभिन्न पंचायतों से आये हुए किसान बन्धु उपस्थित रहे।

Leave a Reply