अपनी मांगों के समर्थन में आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं कुरियर बैठे हड़ताल पर

शनिवार से बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के आह्वान पर अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं कुरियर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए ।आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं कुरियर ने दाउदनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में धरना भी दिया और अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगाए। आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ता कविता कुमारी, शांति देवी,इंदु देवी, रेखा कुमारी, नीता कुमारी समेत अन्य आशा कार्यकर्ताओं ने कहा कि उन लोगों का अनिश्चितकालीन हड़ताल है .उनकी मुख्य मांगों में आशा को सरकारी सेवक घोषित करने एवं 18 हजार रुपया मासिक मानदेय करने की मांग समेत अन्य मांगे शामिल है।वहीं, कुरियर संघर्ष समिति से जुड़े जय गोविंद कुमार यादव, अमरेश कुमार ,अखिलेश सिंह ,अमरेश कुमार आदि ने बताया कि उनकी मुख्य मांगों में बिहार के एनएचएम के द्वारा नियोजित संविदा कर्मियों को दर्शाये गए वेतनमान ,मानदेय एवं प्रोत्साहन राशि के क्रम संख्या 45 पर भैक्सिन कूरियर को देय राशि का भुगतान सुनिश्चित कराने ,स्वास्थ्य विभाग में चल रही चलने वाली विभिन्न योजनाओं परियोजनाओं एवं अभियानों में प्राथमिकता के आधार पर भैक्सिन कुरियरों को कार्य उपलब्ध कराते हुए पूरे माह कार्य उपलब्धता की गारंटी देने, सरकारी सेवक घोषित करने, न्यूनतम 18 हजार रुपया मजदूरी देने ,मृत्यु के उपरांत सामाजिक सुरक्षा के तहत आश्रितों को चार लाख का अनुदान देने, साइकिल पोशाक, रेनकोट सिम सहित मोबाइल ,रिचार्ज कूपन आदि उपलब्ध कराने तथा बकाया राशि का भुगतान कराने संबंधित मांगे शामिल हैं। इन लोगों ने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जायेगी, तब तक लोग वे लोग अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे।

Leave a Reply