बाल दिवस पर स्कूलों में हुई कई प्रतियोगिता

दाउदनगर प्रखंड के विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में बाल दिवस के मौके पर बच्चों को शिक्षकों ने सम्मानित किया। बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। विद्या निकेतन ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स के विद्या निकेतन किड्स वर्ल्ड एवं संस्कार विद्या दाउदनगर में 14 नवंबर बाल दिवस के अवसर पर समान्य ज्ञान प्रतियोगिता के बीच वार्तालाप प्रतियोगिता के साथ अनुभूति 2017 कल कार्यवंती की गई
अनुभूति क्विज 2017 के विजेता दशम वर्ग के छात्र छात्राएं विनीत कुमार राजा कुमार प्रतिमा कुमारी एवं अनामिका कृष्ण रहे उपविजेता के रूप में कक्षा षष्ठ वर्ग के सुजीत कुमार अमित कुमार अंजली कुमारी प्रतिभा कुमारी रहे किड्स वर्ल्ड में प्रथम एवं द्वितीय कक्षा में सुलेख प्रतियोगिता कक्षा तृतीय चतुर्थ एवं पंचम वर्ग में निबंध प्रतियोगिता एवं पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया संस्कार विद्यालय दशम एवं बी के बीच एक कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें दशम और के छात्र सुमिरन सिंह हर्षित पल्लव आकाश एवम उज्जवल सफल रहे
विद्यालय के सीएमडी ने चाचा नेहरू की प्रतिमा पर माल्यार्पण की और कार्यक्रम की शुरुआत हुई छात्र-छात्राओं उत्सुकता के साथ जमकर हिस्सा लिया श्री संदीप कुमार सुश्री रामा रानी चयन अविनाश कुमार अरमान सर चांदनी जिले कार्यक्रम के सफल संचालन किया तथा बच्चों को प्रेरक प्रसंगों से उत्साहित किया
ग्रुप ऑफ स्कूल के सीएमडी श्री सुरेश कुमार गुप्ता ने बच्चों की संबोधित करते हुए कहा कि चाचा नेहरू की जीवनी से बच्चों को सीख लेने की आवश्यकता की चाचा नेहरू जैसे महान आदर्श की स्थापना हो नेहरू जी संप्रदायिकता अत्याचार की अग्नि से जलते हुए भारतवर्ष को संभाला था उन्होंने विश्व को संदेश दिया कि भारत अमन-चैन सत्य पवन और शांति का देश है फूल का सपना था कि यदि मुझे स्वराज मिल जाए तो देश को एकता और अखंडता का देश बनाऊंगा और उसे सिद्ध करके दिखा दिया वह शांतिप्रिय और स्नेह में व्यक्तित्व के देश भक्त है अतः बच्चों को शांति प्रियता सहनशीलता और कर्मठता के साथ शिक्षा अर्जित करने चाहिए ऐसे ऐसे संस्कारों को जीवन में उतारने से मानव जीवन सफल हो जाता है ग्रुप ऑफ स्कूल के सीईओ आनंद प्रकाश ने बच्चों के नाम संदेश प्रस्तुत करते हुए बच्चों के जीवन में सफलता की कामना की उन्होंने बताया कि बच्चे देश के धरोहर पूंजी है परंतु उनका कर्तव्य और उत्तरदायित्व दे है जिसे भली-भांति अपने जीवन में उतारने से ही सफलता के शिखर चुन सकते हैं ऐसे महापुरुष के जीवन से शिक्षा लेने की आवश्यकता है डिप्टी सी विद्यासागर जी ने कहा कि चाचा नेहरू बच्चों से अत्यधिक प्यार करते थे उनके प्रेरणा से बच्चे अपने सफलतम पथ पर अग्रसर बने रहें एवं भविष्य का टेक्नॉलॉजी संपन्न देश बनाने में अपनी मां की भूमिका निभाएं गिरिजा ठाकुर ने एक संगीत के माध्यम से स्पष्ट किया चाचा नेहरू के जानता जहान वा विश्व में रहने गजन महानुभावों उन्होंने कहा कि चाचा नेहरू विश्व स्तर के नेता थे इस मौके पर विद्या निकेतन के प्राचार्य सरयू प्रसाद किड्स वर्ल्ड के प्राचार्य मुजाहिर आलम संस्कार विद्या के प्रचार एक के मिश्रा को साथ किरण जैन सुनीता कुमारी हसरत जहां रिंकी कुमारी सत्येंद्र कुमार सुवालाल अविनाश कुमार अनवर हुसैन मुकेश गिरी सुरेश प्रसाद जेबा मेष विकास कुमार बृजेश पांडे संजय कुमार रंजन कुमार मिथिलेश कुमार एवं समस्त शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply