शिक्षक के लिये लोकतान्त्रिक मूल्यों के प्रति लगाव होना है आवश्यक

      ​दाउदनगर डायट तरार के प्रांगण में डी एल एड(ओ डी एल) 2016-17 तथा 2017-19 सत्र के प्रशिक्षुओं द्वारा शिक्षक दिवस सह सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

 समारोह की अध्यक्षता प्राचार्य श्यामनन्दन ने किया।

उर्द्घाटन भाषण में प्राचार्य ने प्रशिक्षण के महत्व पर प्रकाश डालते हुऐ इस दैनिक जीवन में उतारने की बात कही।

  जिससे वर्ग कक्ष के बच्चों को इससे लाभ हो सके।

 मास्टर ट्रेनर सह राष्ट्रिय इंटर विद्यालय के शिक्षक डॉ सुनील कुमार ने कहा कि आज हमें ऐसे शिक्षको की जरूरत है जिसके लिये शिक्षण वृति एक स्वभाविक प्रतिबदता हो और जो शिक्षण को एक आनंददायी कार्य  मानते हो।नये परिवेश में पाठ्यक्रम में हो रहे तेजी से बदलाव के कारण संकुचित अवधारणा कि शिक्षक ज्ञान को बच्चों तक पहुँचाने वाला एजेंट मात्र है जैसे रूढ़िगत भूमिका को तत्काल बदलने की आवश्यकता है।

व्याख्याता विनोद कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षक के लिये लोकतान्त्रिक मूल्यों के प्रति लगाव होना आवश्यक है।

व्यख्याता सुरेश शर्मा,नय्यर इक़बाल,नागेन्द्र कुमार ने भी सभा को सम्बोधित किया।

Leave a Reply