जिस घर में नहीं हो शौचालय,वहाँ नहीं करें बेटियों की शादी-अरविन्द

  दाउदनगर,11अगस्त,

   जिस घर में नहीं हो शौचालय,वहाँ नहीं करें अपनी बेटियों की शादी,खुले में शौच करना  सामाजिक बुराई तो है हीं साथ हीं साथ यह एक सामाजिक अभिशाप भी है । हमारे समाज में 80 प्रतिशत से ज्यादा बिमारियाँ खुले में शौच व गंदगी करने से हीं होती है । 

      उपरोक्त बातें पाथ के प्रखंड मोनिटर अरविन्द कुमार सिन्हा ने ओबरा प्रखंड के महथू गाँव में आँगनबाड़ी केन्द्र संख्या 15 पर आयोजित सामुदायिक बैठक में गाँव की महिलाओं व कशोरी बालिकाओं को मच्छरजनित बिमारियों से लोंगों को जागरुक करते हुये कही । 

      बैठक में श्रीसिन्हा ने बताया कि मच्छर जैसे जानलेवा जीव का जन्म भी खुले में शौच करने व जहाँ तहाँ गंदगी करने से हीं  होती है । बर्तमान समय में हमारे समाज में मादा मच्छर के काटने  से मलेरिया,डेंगु,चिकनगुनियाँ व मस्तिष्क ज्वर (दिमागी बुखार ) जैसी दर्जनों धातक व जानलेवा बिमारियाँ  हो रही है  जिनसे प्रतिवर्ष सैकडों लोगों की मृत्यु हो रही है । 

     बैठक मे श्रीसिन्हा ने बताया कि उपरोक्त बिमारियों में से सबसे खतरनाक,जानलेवा व लाईलाज बीमारी मस्तिष्क ज्वर है जो क्यूलेक्स नामक मादा मच्छर काटने से  होता है । मच्छर जनित बिमारियों में तेज बुखार के साथ ऊल्टी व कँपकँपी होती है जिसे कभी नजर अंदाज नहीं करना चाहिए ।ऐसे रोगियों को प्राथमिक उपचार के तौर पर ठंढ़े पानी की पट्टी देना चाहिए और उसे अतिशीध्र निकटतम सरकारी अस्पताल भेजना चाहिए ।

      लोंगों को मच्छरजनित बिमारियों से बचने के लिए धर व उसके आसपास सहित नली व नालों की नियमित साफ सफाई करनी चाहिए । समय समय पर साबुन द्वारा अपने हाथों की नियमित साफ सफाई करनी चाहिए । रात में सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करना चाहिए ।

       इस अवसर पर सेविका भागमती देवी,सहायिका उषा कुमारी व आशा कार्यकर्ता मंजु कुमारी सहित तीन दर्जन से ज्यादा महिलाएँ उपस्थित थीं ।

     इसके पहले श्रीसिन्हा द्वारा ओबरा के सैदपुर व हरिजन टोला,हसपुरा क जैतपुर व वंशीविगहा,गोह के ईब्राहिमपुर व भुरकुंडा जबकि दाऊदनगर के पत्थरकट्टी पसवाँ व चमनबिगहा में सामुदायिक बैठक आयोजित की गयी ।

            

Leave a Reply