खुले में शौच यानी बीमारियों का निमंत्रण

संतोष अमन की रिपोर्ट:-

हमारे गांव, समाज व् घर परिवार के लोग खुले में शौच करके एवं जहाँ तहाँ अनावश्यक गन्दगी करकेअसमय दर्जनों लाइलाज व् जानलेवा बीमारियों जैसे पोलियो,डायरिया,मलेरिया,डेंगू,चिकनगुनिया,मस्तिस्क ज्वर,रोटा वायरस व् जीका वायरस को आमंत्रित कर रहें हैं ।

उपरोक्त बातें पाथ के प्रखंड मॉनिटर अरविन्द कुमार सिन्हा ने  गोह के बाजार वर्मा स्थित आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 69 व् 70 पर आयोजित सामुदायिक बैठक में मच्छरजनित ए. ई.एस.बीमारियां मलेरिया,डेंगू, चिकनगुनिया,मस्तिष्क ज्वर ,रोटा वायरस व् जीका वायरस  से महिलायों व् किशोरी बालिकाओं को जागरूक करते हुये कही।

 बैठक में श्री सिन्हा ने बताया कि उपरोक्त बीमारियां गन्दगी में जन्म लेने वाले मादा मच्छर के काटने से होती है जो काफी जानलेवा व् खतरनाक है परंतु इनमे से सबसे ज्यादा लाईलाज व् खतरनाक बीमारी मस्तिष्क ज्वर (दिमागी बुखार ) है जो मादा क्यूलेक्स नामक मच्छर के काटने से होती है । इसमें रोगी को तेज बुखार के साथ उल्टी, कंपकंपी,बेहोशी,कमजोरी व् सुस्ती होती है । इसमें रोगी नींद में बड़बड़ाता है,सिर में चक्कर आता है,मुँह से झाग आता है व् दांत कटकटाता है ।ऐसी स्थिति में रोगी को ठंढे पानी की पट्टी देकर अतिशीघ्र सरकारी अस्पताल भेजना चाहिये जिससे अतिशीघ्र जान बचायी जा सके ।
      श्री सिन्हा ने इस बीमारी की भयावहता का सम्बन्ध में बताया कि यह विमारी यदि 10 बच्चों को हो जाये तो उनमें 3 से लेकर 4 बच्चों की मृत्यु हो सकती है जबकि 3 को पैरालाइसिस हो सकता है,मात्र 3 बच्चे बच कर हीं घर आ पाते हैं ।

      उन्होंने बताया कि उपरोक्त बीमारी से बचने के लिए घर व् उसके आसपास की साफ सफाई सहित नाली नाले की साफ सफाई करनी चाहिए । रात में सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करना चाहिये 

इसके पूर्व हसपुरा के डीह के आंगनवाड़ी केन्द्र संख्या 4,ओबरा के जियादीपुर के केन्द्र संख्या 17 एवं दाऊद नगर के रामनगर के कंन्द्र पर पाथ द्वारा सामुदायिक बैठक आयोजित की गयी । 

बैठक में सेविका विद्या कुमारी,सहायिका सोनमती देवी,चुनमुन देवी व् आशा रिंकू देवी और रीना देवी सहित दर्जनों महिलायें व् किशोरी बालिकाएं उपस्थित थीं ।

 

Leave a Reply