विशेष: आपातकाल की स्थिति से निपटने के लिए ये नम्बर सेव कर लें

दाऊदनगर अनुमंडल कार्यालय परिसर में स्थित बिहार फ़ायर सर्विस के कार्यालय में जाने का मौक़ा प्राप्त हुआ और वहाँ के अग्निशामक पदाधिकारी रामअखिलेश सिंह से बातचीत में कई अहम जानकारियाँ प्राप्त हुई जो स्थानीय निवासियों के लिए आपातकाल में काफ़ी लाभदायक सिद्ध हो सकती है। अगर हम सब सावधानियाँ बरतें तो आग लगने से रोका जा सकता है और अगर आग लग भी जाए तो बहुत बड़े नुक़सान होने से बचाया जा सकता है। पेश है उनसे हुए बातचीत के कुछ अंश:

प्रश्न: आपातकाल की स्थिति में कोई नम्बर है जिसके माध्यम से सूचना जल्द से जल्द इस कार्यालय में पहुँचाया जा सके?

उत्तर: जीहाँ, यहाँ पर एक लैंडलाइन नम्बर है: 06328-228209 इसके अलावा आपातकाल की स्थिति में लोग मेरे मोबाइल नम्बर पर भी सम्पर्क कर सकते हैं: 8521696567

प्रश्न: यहाँ पर कितनी संख्या में अग्निशमक गाड़ी उपलब्ध है और उनकी क्षमता क्या है?

उत्तर: यहाँ तीन अग्निशमक गाड़ी मौजूद है परंतु एक बहुत दिनों से ख़राब पड़ा हुआ है। बाक़ी का दो पूर्ण रूप से उपयोगी है। एक की क्षमता 25,000 लीटर एवं दूसरे की क्षमता 35,000 लीटर है।

प्रश्न: इस परिसर में जल की उपलब्धि किस प्रकार है? आपातकाल की स्थिति के लिए क्या पर्याप्त जवान मौजूद हैं?

उत्तर: पहले पानी की थोड़ी दिक़्क़त हुआ करती थी, परंतु अब यहाँ पर अग्निशामक के लिए ख़ास कर बोरिंग करवाया गया है जिसकी मदद से एक गाड़ी तक़रीबन 15 मिनट में भर जाती है। शुरुवात में हमलोग सिर्फ़ दो तीन लोग हुआ करते थे लेकिन अब यहाँ जवानों की संख्या पर्याप्त है। कई नए जवान इस केंद्र पर भेजे गए हैं।

प्रश्न: उपचार से अच्छा बचाव होता है तो क्या इसके मद्देनज़र अग्निशामक विभाग की तरफ़ से कोई जागरूकता अभियान चलायी जाती है जिससे लोग सतर्क रहें?

उत्तर: जी बिल्कुल, समय समय पर हमलोग शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण इलाक़ों में जाते हैं और लोगों को आग से रोकथाम के उपाय बताते रहते हैं: गर्मी के समय बीड़ी सिगरेट ना जलाएँ, चूल्हा जलाते समय सावधानी बरतें, जगह जगह पर पानी का पर्याप्त इंतेज़ाम रखें। इसके अलावा विभिन्न साइज़ का फ़ायर एक्सटिंगशर का सिलेंडर उपयुक्त क़ीमत पर उपलब्ध करायी जाती है जिससे आग पर तत्काल क़ाबू पाया जा सकता है। गैस ख़त्म हो जाने पर रिफ़िल की व्यवस्था भी उपलब्ध है।

प्रश्न: दाऊदनगर बाज़ार का इलाक़ा तो शहरी क्षेत्र है और यहाँ पर मॉल, शोरूम, शिक्षण संस्थान, क्लीनिक इत्यादि मौजूद  हैं तो क्या उनका फ़ायर ऑडिट होता है?

उत्तर: समय समय पर हमारी टीम फ़ायर ऑडिट के लिए जाती है और ज़रूरत के हिसाब से ज़रूरी सिलेंडर लगायी जाती है। धीरे धीरे बहुत सारी चीज़ों पर ध्यान दिया जा रहा है। आने वाले समय में स्मोक डिडेक्टर जल्द ही प्रचलन में आ जाएगा।

Leave a Reply