आत्मविश्वास बनाये रखने का बेहतरीन माध्यम है संवाद कला

 प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को प्रमाण पत्र देते डीएम कंवल तनुज एवं एसपी डा० सत्यप्रकाश

 संतोष अमन की रिपोर्ट:-

आत्मविश्वास बनाये रखने का सबसे बेहतर माध्यम संवाद कला है। आपके अंदर अपने आपको प्रदर्शित करने की कला होनी चाहिए। प्लेसमेंट के लिये किसी को कन्विंस करने हेतू दो चीजे बहुत जरूरी है। आपके अंदर गुण व जानकारी होनी चाहिए। दूसरा अपने आपको प्रदर्शित करने की कला होनी चाहिए। उक्त बातें डीएम कंवल तनुज ने दाउदनगर के दर्शन इंस्टीच्यूट आॅफ मैनेजमेंट टेक्नोलाॅजी प्रा० लि० (वीसीएसआरएम) में प्रथम बैच के प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को प्रशिक्षण का प्रमाण पत्र देते हुये कही। कौशल युवा केंद्र में प्रशिक्षण को पूरा करने वाले इन युवाओं को संबोधित करते हुये डीएम ने कहा कि अपने हर पल का सदुपयोग करना सीखें। एक भी पल बर्बाद करेंगे तो कोई दूसरा आपसे आगे निकल जाएगा। जहां शिथिल हुये तो कोई दूसरा आपसे आगे बढ जाएगा। कोई कला आपको बतायी जाती है तो उसे अपने अंदर आत्मसात करना होगा। प्रशिक्षण के दौरान जो बताया गया उसे अपने दैनिक जीवन में उतारें। जो कला यहां बताई गई उसे अपने अंदर आत्मसात करेंगे तो भविष्य के लिये बेहतर होगा। डीएम ने कौशल युवा केंद्र के पदाधिकारियों से कहा कि पहले बैच के प्रशिक्षण प्राप्त जिन युवाओं का प्लेसमेंट हुआ है उनकी सूची बनाकर दें। उन सबों को जिला मुख्यालय में बुलाकर सेमिनार आयोजित किया जाएगा। जिसमें प्रशिक्षण प्राप्त सभी युवाओं को बुलाया जाएगा। वे अपना अनुभव साझा करेंगे। पुलिस अधीक्षक डा० सत्यप्रकाश ने कहा कि समय काफी तेजी से बदल रहा है। जागरूक होना होगा। कौशल युवा केंद्र के जिला नियोजन पदाधिकारी राजीव रंजन ने कहा कि पहले बैच में जिले के 105 युवाओं को पासआउट दिया गया है। जिला प्रबंधक प्रवीण प्रकाश ने कहा कि तीन महीने में युवाओं को काफी कुछ सिखाया गया है। स्थानीय संस्था के निदेशक रौशन कुमार सिन्हा एवं आलोक कुमार टंडन ने कहा कि 15 दिसंबर 2016 को 20 युवाओं का बैच इस केंद्र में शुरू किया गया था। जिनमें से 2 का प्लेसमेंट कौशल युवा केंद्र एवं एक का प्लेसमेंट एच०सी०एल० पटना में हो चुका है। दो का इंटरव्यू होने वाला है। एक युवा का चयन बिहार के 40 टाॅपरों में हुआ है। इस मौके पर अवकाश प्राप्त शिक्षक रामानंद सिंह, कौशल युवा केंद्र से जुडे राजेश कुमार सिंहा, रवि कुमार पांडेय, शिक्षक बबलु कुमार, चंदन कुमार, कौशल कुमार आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

Leave a Reply