घुल-मिलकर बन गये थे परिवार का अंग, समारोह आयोजन कर दी गई विदाई

दाउदनगर अन्तर्गत तरार स्थित डायट के प्रांगण में बुधवार को सत्र 2015-17 के प्रशिक्षुओं के सम्मान में सत्र 2016-18 के प्रशिक्षुओं द्वारा विदाई-समारोह का आयोजन किया गया। समारोह का उद्घाटन डायट संस्थान के प्राचार्य श्यामनन्दन शर्मा, वरिष्ठ व्यख्याता विनोद कुमार, जमील अख्तर, सुरेश शर्मा, नैय्यर इकबाल, नागेन्द्र कुमार, धीरेंद्र कुमार ने संयुक्त रूप से किया। इस मौके पर प्रशिक्षुओँ ने सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा महिला प्रशिक्षुओं ने स्वागत गान प्रस्तुत किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के उपरांत प्रशिक्षुओं का माल्यार्पण कर डायरी व कलम प्रदान कर सम्मानित किया गया।

प्राचार्य श्यामनन्दन शर्मा ने सत्र 2015-17 के सभी प्रशिक्षुओं की सराहना करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि 2 वर्षों में अपने व्यवहार से संस्थान में घुल-मिलकर परिवार का अंग बन गए थे। प्रतिनिधि के रूप में संजय कुमार मिश्र ‘अणु’ ने अनुभव बताते हुए प्राचार्य एवं समस्त जनों को हृदय से नमन किया एवं आयोजकों को धन्यवाद दिया। कार्यक्रम का संचालन संयुक्त रूप से कविता कुमारी एवं अनुज कुमार पांडेय ने किया।

श्री पांडेय ने बताया कि विनोद कुमार दुबे द्वारा सरस्वती वंदना प्रस्तुति, योगेंद्र प्रसाद अनिल द्वारा एकल प्रस्तुति प्रहसन- गुरुघण्टलों का गोलमेज, संतोष दुबे, यगेन्द्र व श्वेता कुमारी द्वारा बेटियों पर आधारित प्रहसन ‘वाह बेटा‘ को सभी लोगों ने सराहना की। दीपिका कुमारी शर्मा ने विदाई पत्र प्रस्तुत कर लोगों का हृदय जीत लिया। सोनी कुमारी ने अपनी व्यंग्य प्रस्तुति से सभी को हंसने के लिए मजबूर किया। संजय किशोर, चन्दन कुमार पाठक, राजनन्दन ने अपनी प्रस्तुतियों से सभी का मन मोहा। वरुण कुमार, रणजीत कुमार, कमलेश कुमार, अर्पणा कुमारी, राजकुमार, रितेश रंजन, महेश पासवान ने अपनी विदाई वाली प्रस्तुतियों से कार्यक्रम में भावनाओं का संचार कर दिया।

Leave a Reply