अच्छे परीक्षा परिणाम के लिए बिहार सरकार को कुछ सुझाव

संतोष अमन की रिपोर्ट:

कांग्रेस मानवाधिकार प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष एवं मौलाबाग स्थित श्रीसूर्यमंदिर न्यास समिति के सचिव डॉ संजय कुमार सिंह ने शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार के लिए कुछ सुझाव सरकार को दिए हैं। वे साक्षर भारत मिशन के प्रखंड कार्यक्रम समंवयक भी हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेजो में सभी विषयों के निर्धारित यूनिट के अनुसार दक्ष शिक्षक होंने चाहिए। समय-सारणी के अनुसार घंटी लगे और विषयानुसार शिक्षक संबंधित कक्षा में जाए। उपस्थिति चाहे एक भी विद्यार्थी हो, तो पूरी तन्मयता से निर्धारित समय तक पढाएं। समय-समय पर पदाधिकारी स्कूलो-काॅलेजो में जांए और उपस्थित विद्यार्थियो के गुणवत्ता की जांच करें न कि सिर्फ रजिस्टर जांच कर खानापूर्ति की जाए। परीक्षा की काॅपी संबंधित विषय के दक्ष शिक्षक से ही जांच करवाई जाए। ऐसी नीति बनाई जाए कि एक घंटा में एक शिक्षक अधिक से अधिक 4 या 5 काॅपी ही जांच कर सकें। शिक्षकों में नैतिकता का गुण भरने और राष्ट्रनिर्माता होने का बोध करवाने वाली विषेश प्रशिक्षण दिया जाए। शिक्षकों का ऐसा आकर्षक वेतन -भत्ता एवं सुविधा हो की सभी अभिभावक अपने घर के मेधावी बच्चो को शिक्षक बनाने का सपना देखें और खुद मेधावी विद्यार्थी का भी सपना शिक्षक ही बनना हो जाए। वार्षिक बजट में शिक्षा पर अधिक से अधिक ब्यय की योजना हो ताकि हमारा तेजी से चहुंमुखी विकास हो सकें।

Leave a Reply