फर्मासिस्ट के निधन पर शोक सभा का हुआ आयोजन

शोक सभा में शामिल पीएचसी प्रभारी डॉ मनोज कुमार कौशिक एवं अन्य

संतोष अमन की रिपोर्ट:

स्थानीय पीएचसी में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत फारमासिस्ट के पद पर कार्यरत मनोज कुमार की मृत्यू बुधवार की सुबह हो गयी। वे मात्र 35 वर्ष के थे और अपने पीछे पत्नी सुनीता देवी के साथ दो मासूम बेटी व एक बेटा छोड़ गए हैं। स्वास्थ्य प्रबंधक विकास शंकर ने बताया कि गत 24 मई को अचानक तेज बुखार हुई, और कोमा में चले गए। बुधवार की सुबह उनके मृत्यू पटना के एक निजी अस्पताल में हो गयी। उनकी आत्मा की शान्ति के लिए पीएचसी में शोकसभा का आयोजन किया गया। दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिये ईश्वर से प्रार्थना की गई। शोक सभा में स्वास्थ्य प्रबंधक के अलावे प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मनोज कुमार कौशिक, डॉ उपेन्द्र कुमार सिंह, डॉ विनोद कुमार सिंह, डॉ ज्योति, डॉ वसीम, डॉ नसीम के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्यकर्मी शामिल हुये। वहीं सिग्मा क्लासेस में भी उनके निधन पर शोक सभा आयोजित किया गया। शोक सभा में श्रीनिवास मंडल, संजय कुमार, आलोक कुमार, शिवेन्द्र कुमार, पुष्पा कुमारी, उषा कुमारी उपस्थित रहे। श्रीनिवास मंडल ने बताया कि स्थानीय ईलाज के क्रम में उन्हें वायरल फीवर बताया गया था। विशेष ईलाज के लिये पटना के एक हाॅस्पीटल में तीन दिनों से आईसीयू में भर्ती थे।

Leave a Reply