रमज़ान को लेकर तैयारी हुई पूरी

मंसूर आलम की रिपोर्ट:-

चांद के तस्दीक के साथ ही पाक़ महीना रमजान शुरू हो जाएगा। बरकतों के इस महीना के खत्म होने पर ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाएगा। रमज़ान के पूरे महीने में मुस्लिम धर्मावलंबी रोजा, नमाज, तरावीह तथा कुरआन की तिलावत पाबंदी के साथ करेंगे।

मुस्लिम आबादियों में रमजान की आमद दिखाई देने लगी है। जहां मस्जिदों में सफाई-पुताई पूरी की जा चुकी है, वहीं हर रात होने वाली तरावीह (विशेष नमाज) के लिए ईमामों की नियुक्ति भी की जा चुकी है। मस्जिदों में बिजली, पानी, सफाई का पूरा इंतजाम कर दिए गए हैं। साथ ही कई मस्जिदों के बाहर रोशनी के इंतजाम भी किए गए हैं।  सभी मस्जिदों में तरावीह की नमाज पढ़ी जाएगी। लोगों की सहूलियत के लिहाज से शहर के सभी मस्जिदों में तरावीह का समय अलग-अलग निर्धारित किया गया है। जिसमें अलग-अलग मस्जिदों में 9, 10, 14 और 15 दिन की तरावीह अदा की जाएगी। तरावीह की नमाज आम दिनों में पढ़ी जाने वाली पांच वक्त की नमाजों से अलग होती है।

बाजारों में सेहरी और ईफ्तार की सामग्रियां दिखाई देने लगी हैं। सेहरी और रोजा ईफ्तार के लिए कुछ अलग व्यंजन मौजूद रहते हैं। जहां लोग दूध के साथ हल्की व्यंजन सेहरी में लेकर रोजे की शुरुआत करते हैं। वहीं पौष्टिक युक्त सुपाच्य सामग्री को अपनी ईफ्तार के व्यंजनों में शामिल करते हैं। इसके अलावा मौसमी फलों की बिक्री भी इस दौरान बढ़ जाएगी। ईफ्तार के लिए पवित्र मानी जाने वाली खजूर की कई प्रकार भी दिखाई देने लगी हैं। 

Leave a Reply