शिक्षक संघर्ष समिति की हुई बैठक

आज दिनांक 19 मई 2017 को बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) की अनुमंडल कमिटी की बैठक संघ के अध्यक्ष श्री मनीष कुमार की अध्यक्षता में आज यहाँ अरविन्दों मिशन स्कूल के प्रांगण में सम्पन्न हुई। बैठक में सर्वसम्मति से राज्य सरकार द्वारा सातवां वेतनमान लागू करने में की गई मनमानी पर गहरा क्षोभ एवं रोष व्यक्त किया गया। बैठक में उपस्थित सदस्यों को सम्बोधित करते हुए संघ के संयुक्त सचिव श्री सत्येन्द्र कुमार ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शिक्षकों एवं कर्मचारियों के हकों में की गई कटौती के खिलाफ आम शिक्षकों एवं कर्मचारियों को हड़ताल जैसी कार्रवायी में भी उतरने के लिए तैयार रहना चहिए। उन्होंने कहा कि राज्य कमिटी इस सम्बन्ध में शीघ्र ही कोई बड़ा निर्णय लेने वाली है। उपस्थित सदस्यों ने एक स्वर से कहा कि राज्य सरकार शिक्षकों एवं कर्मचारियों का हमेशा की भाँति इस बार भी 15 महीने की वेतनवृद्धि खा जाना चाहती है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बैठक को सम्बोधित करते हुए महासंघ (गोप गुट) के अनुमंडल उपाध्यक्ष श्री संजय कु० सिंह ने कहा कि सरकार 1 जनवरी 2017 से सातवां वेतनमान लागू करने के अपने ही मुख्यमंत्री द्वारा किये गये वादे को भी भूल गई और मनमाने ढंग से 01 अप्रैल 2017 से इसे लागू कर दिया गया। प्राथमिक शिक्षक संघर्ष समिति के जिला सचिव श्री सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि राज्यकर्मियों के मकान किराये भत्ते के मामले में भी सरकार ने  ज़बर्दस्त मनमानी की है तथा नये वेतनमान पर इसे अभिकलित नहीं कर रही है। उन्होने कहा कि सरकार ने नियोजित शिक्षकों को सरकारी कर्मी का दर्जा तो नहीं ही दिया है बल्कि अलग से उनके वेतन में की गयी वृद्धि भी बहुत कम  है। इस बैठक में उपस्थित शिक्षक एवं कर्मचारी प्रतिनिधियों ने एक स्वर से राज्य सरकार के वादा खिलाफी के विरुद्ध समझौताहीन संघर्ष चलाने का संकल्प लिया। बैठक का संचालन महासंघ (गोप गुट) के अनुमंडल सचिव श्री सत्येन्द्र कुमार ने किया। धन्यवाद ज्ञापन महासंघ के सम्मानित अध्यक्ष  श्री कृष्णा प्रसाद चंद्रवंशी ने किया। इनके अलावे इस बैठक में अनुमंडल कमिटी के अन्य सदस्य श्रीमती बिंदा कुमारी सिन्हा, श्री आलोक  कुमार, श्री संजय कुमार, श्री सुनील कुमार, श्रीमती इंदु कुमारी  इत्यादि लोग मौजूद थे ।

Leave a Reply