पत्रकार पर हमला लोकतंत्र पर हमले के समान

संतोष अमन की रिपोर्ट:
राजद आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डा. प्रकाशचंद्रा ने दैनिक जागरण के पत्रकार उपेंद्र कश्यप पर हुए हमले का विरोध करते हुए कहा है कि पत्रकारों पर हमला लोकतंत्र के चैथे खम्भे पर हमले के समान है इससे ना सिर्फ पत्रकारों के अंदर भय एवं असुरक्षा की भावना जागृत होती है बल्कि ऐसे कार्यों से समाज की बुराइयों एवं जन समस्याओं को सामने लाने के लिए पत्रकार जिस प्रकार साहसिक रुप से अपने लेखनी का प्रयोग करते हैं उस में बाधा आएगी। हमें यह समझना होगा कि पत्रकार आम जन मानस की सेवा करते हैं और बहुत सारी ऐसी घटनाएं घटित होती है जिसमें प्रशासन के द्वारा जनता को न्याय नहीं मिल पाती है तो उस मुद्दे को प्रमुखता से उठाकर सरकार के सामने लाती है उसके बाद प्रशासन एवं न्यायपालिका एवं नेताओं का ध्यान उस घटना विशेष की ओर आकृष्ट होता है फल स्वरुप कार्रवाई भी होती है.इसका बहुत ही बड़ा उदाहरण 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, कोयला घोटाला आदि है. इन घोटालों का पर्दाफाश मीडिया की ही देन है. उन्होंने कहा कि दाऊदनगर की जनता से विनम्र निवेदन होगा कि वह अपने उग्रता को त्यागे और पत्रकारों एवं जनों का सम्मान करना सीखें. आज की पीढ़ी पता नहीं किस ओर जा रही है लोग उग्र होते जा रहे हैं ।धैर्य का अभाव होता जा रहा है। छोटी-छोटी बातों पर हम समस्याओं का हल खोजने के बजाय खुद ही समस्या बन कर उड़ जाते हैं

Leave a Reply