समाज को एक सूत्र में बांधने का सरल उपाय है यज्ञ


दाउदनगर प्रखंड के अंगराही में आयोजित श्री लक्ष्मीनारायण सप्ताह महायज्ञ व भगवान शंकर की प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ बुधवार को संपन्न हो गया। अंतिम दिन भंडारा व हवन हुआ।काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने पहुंचकर प्रसाद ग्रहण किया। इससे पहले संतों का प्रवचन, रामलीला, रासलीला की मंचीय प्रस्तुति हुई। दीदी उषा रामायणी और स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य ने प्रवचन दिया। उन्होंने आह्वाहन किया कि बद्रीनाथ में चौमासा यज्ञ होने वाला है वहां सभी श्रद्धालु पहुंचें।चार जुलाई से पांच अक्टूबर तक बद्रीनाथ के अलकनंदा नदी के पावन तट पर चातुर्मास्य महायज्ञ होगा।यज्ञ के अंतिम दिन भाजपा के वरिष्ठ नेता अश्वनी तिवारी, डॉ. अरबिन्द कुमार, सत्येन्द्र तिवारी ने पहुंचकर स्वामी जी का आशीर्वाद प्राप्त किया।श्री तिवारी ने मुखिया पिन्टू शर्मा व ग्रामीणों को बधाई दी।उन्होंने कहा कि ऐसे पुनीत कार्य कर गांव नहीं बल्कि पूरे प्रखण्ड को भक्तिमय करने का काम किया है।  यज्ञ से आपसी सौहार्द बनता है, कटुता समाप्त होती है। समाज को एक् सूत्र में बांधने का सरल उपाय है यज्ञ।जिससे वातावरण शुद्ध होता है।समाज के हर तबका के लोगों में सदबुद्धि का प्रचार प्रसार होता है।यज्ञ समिति के अध्यक्ष उमेश्वर शर्मा,सचिव रामनाथ सिंह,कोषाध्यक्ष नन्हेश्वर शर्मा,अजय शर्मा, धनंजय शर्मा आदि प्रमुख रुप से मौजूद रहे।

Leave a Reply