स्वास्थ्य के प्रति जागरुक नहीं हैं शिक्षक व छात्र

हसपुरा ,28,अप्रैल

     स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं हैं आजकल के शिक्षक व छात्र । आजकल के स्कुली छात्रों व शिक्षकों में स्वास्थ्य व.स्वच्छता के प्रति जागरूकता का काफी अभाव देखा जा रहा है, जिस कारण हमारे गाँव, समाज व परिवार में गंदगी एवं बिमारियों का अंबार देखने को मिल रहा हे ।

      उपरोक्त बातें पाथ के प्रखंड मोनिटर अरविन्द कुमार सिन्हा ने हसपुरा प्रखंड के अहियापुर ग्राम मे राजकीय उत्क्रमित उच्च विघालय मे पाथ द्वारा आयोजित सामुदायिक बैठक में लोगों को लाईलाज व जानलेवा बीमारी मस्तिष्क ज्वर एवं ए.इ.एस बीमारी के प्रति जागरूक करते हुये कही ।

       बैठक में श्रीसिन्हा ने बताया कि एक साल से पन्द्रह साल के आयु वर्ग के बच्चों मे होनेवाली मस्तिष्क जवर बीमारी मादा क्युलेक्स नामक मच्छर के काटने से होती है,दुषित पानी पीने से होती है एंव दुषित हाथों से खाना खाने से होती है ।इसके लिए लोंगों को अपने अपने घरों एवं उसके आसपास के इलाकों सहित नली नाले की नियमित साफ सफाई पर विशेष ध्यान देना चाहिए । 

        बैठक में श्रीसिन्हा ने कहा  कि लोगों को जहाँ तहाँ गंदगी नहीं करनी चाहिए ।जहाँ तहाँ खुले मे शौच नही करना चाहिए।रात में सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करना चाहिए।

          श्रीसिन्हा ने बताया कि मच्छर जनित होनेवाली बिमारियों मलेरिया,डेंगु चिकनगुनिया व मस्तिष्क ज्वर में तेज बुखार के साथ साथ उल्टी,कँपकँपी व बेहोशी होती है ऐसी स्थिति मे रोगी को प्राथमिक उपचार के तौर.पर.ठंडे पानी की पट्टी देनी चाहिए और रोगी को अतिशीध्र निकटतम सरकारी अस्पताल भेजना चाहिए जिससे समय पर रोगी की जान बचायी जा सके ।

        बैठक में शिक्षक कमलेश कुमार सिंह एवं नृपेश कुमार के अलावे दर्जनों स्कुली छात्र उपस्थित थे ।

          

Leave a Reply