शिक्षा से हुआ सामाजिक परिवर्तन – कुशवाहा 


शिक्षा से समाज में बदलाव आया है। 25 वर्षो में जितना परिवर्तन हुआ है वह पिछले 100 सालो में नहीं हुआ। यह सब शिक्षा के कारण ही हुआ है,उक्त बातें केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने दाउदनगर के अकबरपुर में आयोजित कुशवाहा शैक्षणिक कल्याण परिषद द्वारा आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में कही। उन्होंने कहा बदलते परिवेश में शिक्षा जरूरी है। आपको कदम से कदम मिलाकर चलना होगा तभी इस परिवर्तन का लाभ उठा सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के तमाम बच्चों को शिक्षा देेने के लिए संकल्पित हैं। केंद्र सरकार गरीब, अमीर सबको शिक्षा मिले इस कोशिश में हैं। उन्होंने परिषद के लोगों को धन्यवाद देते कहा आप जो काम कर रहे हैं वह सराहनीय है। जिन बच्चों ने इस प्रतियोगिता में अपनी योग्यता को साबित किया है वे धन्यवाद के पात्र हैं। मेरा मन करता है ऐच्छिक निधि का पूरी राशि शिक्षा में ही दे दूं। इस पर उपस्थित लोगों ने तालिया भी बजाई लेकिन उन्होंने पलटते हुये कहा फिर आप ही सडक, सामुदायिक भवन आदि की मांग करेंगे। 20 साल पहले छात्राएं साईकिल चलाती थी तो उसे बुरा कहा जाता था लेकिन आज शत प्रतिशत छात्राएं साईकिल चला रही है और वह विकास की धारा से जुडी है। गांवों में अभी भी शहरों की अपेक्षा शिक्षा का अभाव है। उन्नत किस्म के संस्था यहां नहीं है। इस अवसर पर प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने वाले दाउदनगर पुराना शहर निवासी मुन्ना कुमार को सम्मानित किया गया। अन्य सर्वश्रेष्ठ बच्चों में नौवीं कक्षा की पूजा कुमारी, आठवां का रिशु कुमार, निशांत कुमार, सातवां का समीर कुमार, रंजन कुमार, छठा का लक्ष्मी कुमारी के साथ-साथ धनंजय कुमार, नीतीश, प्रीति, उज्जवल, राहुल आदि के साथ 18 छात्रों को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। समारोह का उद्घाटन अवकाश प्राप्त जज दामोदर प्रसाद ने किया तथा इस मौके पर पूर्व मंत्री सुरेन्द्र प्रसाद सिंह, अरवल विधायक रविंद्र सिंह, पूर्व विधायक राजाराम सिंह, बैजनाथ मेहता, गया काॅलेज के व्याख्याता उपेंद्रनाथ वर्मा के अलावे ग्रामीण रविशंकर सिंह, अरूण प्रसाद, रालोसपा जिलाध्यक्ष अशोक मेहता, ओबरा विधानसभा प्रत्याशी चंद्रभूषण वर्मा, संजीत कुमार, दिनेश कुशवाहा, राजेंद्र प्रसाद आदि शामिल रहे।

Leave a Reply