महात्मा फुले ने जगाया शिक्षा का अलख 


दाउदनगर – महात्मा ज्योति बा फुले की 190वंी जयंती महात्मा फुले नगर माली टोला वार्ड संख्या-05 में सत्येंद्र कुमार के आवास पर मनायी गयी। संबोधित करते हुये शिक्षक संघ के राज्य सचिव सत्येंद्र कुमार ने कहा कि यदि लाखों कठिनाईयां एवं जोखिम उठाकर महात्मा फुले ने शिक्षा का अलख नहीं जगाया होता तो शायद अंबेदकर भी आज वह अंबेदकर नहीं होते जिन्होंने भारतीय संविधान का निर्माण किया। आज भारत का शुद्र अथवा अवर्ण समाज महात्मा फुले का ऋणी है। जिन्होंने हिंदुस्तान में शुद्रों के लिए पहली बार शिक्षा का द्वार खोला था। समारोह की अध्यक्षता कृष्णा प्रसाद चंद्रवंशी ने की। वृंदागर भगत, ठाकुर भगत, मुखदेव भगत, शत्रुधन भगत, देवेंद्र भगत, श्यामनंद किशोर, बिरजु चैधरी, कयूम अंसारी ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

Leave a Reply