पलटेगी अब “साहित्य कुंज” की किस्मत

 औरंगाबाद,12अप्रैल

    पिछले कई साल से सुसुप्तावस्था में पड़े औरंगाबाद जिला की 27 साल पुरानी साहित्य ,कला व संस्कृति की संवाहक संस्था ” साहित्य कुंज” की किस्मत आगामी 14 अप्रैल को सँवरने वाली है, क्योंकि इसी दिन जिला मुख्यालय स्थित अघिवक्ता भवन (मुख्तारखाना) में “साहित्य कुंज” की एक विशेष बैठक सह कवि गोष्ठी होने वाली है ।

       उपरोक्त जानकारी देते संस्था के संस्थापक महासचिव एवं युवा साहित्यकार अरविन्द अकेला ने बताया कि उस दिन 25 सदस्यीय कमिटी का गठन किया जायेगा जिसमें बरिष्ठ एवं युवा लोगों सहित अल्पसंख्यक समुदाय का समन्वय देखने को मिलेगा।इसके पर्नगठन मे किसी प्रकार का भेदभाव नही होगा । पुर्नगठन में साहित्य,कला,संस्कृति पत्रकारिता जगत से जुड़े लोगों व सामाजिक लोगों को समुचित भागीदारी होगी।

        श्री सिन्हा ने बताया कि बैठक एवं कवि गोष्ठी में देववंश सिंह,जगन्नाथ सिंह,उदय कुमार सिंह, प्रो.सिद्धेश्वर प्रसाद सिंह,सिद्धेश्वर विद्यार्थी, सुरेन्द्र मिश्र, दिल औरंगाबादी ,युसूफ जमील, शब्बीर हसन शब्बीर,प्रियदर्शी किशोर श्रीवास्तव, अजय कुमार श्रीवास्तव,श्री राम राय,जय कृष्ण राही,सारंगघर सिंह,मिथलेश मिश्र मधुकर ,हर्षदेव प्रेमी,श्रीकृष्णा पाठक मघुप,सी.पी.सन्यासीएवं रमन सिन्हा सहित तीन दर्जन लोंगों के भाग लेने की संभावना है ।

            ————

Leave a Reply