नगरवासीयों के द्वारा सांप्रदायिक सौहार्द्र का पेश किया गया मिशाल 

एक दूसरे को फूल प्रदान करते दोंनो समुदाय के लोग 

रामनवमी जुलूस के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द्र की मिशाल दोनों समुदायों के लोंगो ने प्रस्तुत किया। कसेरा टोली में पूर्व वार्ड पार्षद रवींद्र प्रसाद के आवास के पास अल्पसंख्यक समुदाय के लोंगो ने जुलूस में शामिल लोंगो को गुलाब का फूल देकर उनका स्वागत किया। राजद आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डा.प्रकाशचंद्रा ने कहा कि  दोंनो समुदाय के लोंगो ने संकल्प लिया  है कि एक दूसरे की धार्मिक भावना का ख्याल रखते हुए प्रशासन को सहयोग करेंगे। शहर को शांति के मिशाल के तौर पर कायम करेंगे। हम सभी मिल जुलकर सभी पर्व त्योहार मनाएंगे। उनके आह्वान पर स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता डा० फजलु रहमान उर्फ लड्डु, जफर आलम उर्फ पप्पु, डॉ० परवेज़ रज़ा, खुर्शीद, रुस्तम, जमालुदीन, असद अली, सुहैल अंसारी, औरंगाबाद से आए राजद नेता खान इमरोज, एनाम मुस्तफा, हसनैन खां, नौशाद हुसैन आदि ने पहुंचकर जुलूस में शामिल लोंगो को गुलाब का फूल दिया साथ में रामनवमी की बधाई दी।

इनके द्वारा कहा गया कि सांप्रदायिक सौहार्द्र का हमारा इतिहास रहा है। इस दौरान वंदे मातरम, भारत माता की जय, जय श्रीराम, हिंदु-मुस्लिम-सिख-इसाई,आपस में हैं सब भाई-भाई! के नारे गूंजते रहे। इस मौके पर पूर्व जिप उपाध्यक्ष संजय सिंह सोम, पूर्व मुखिया राधेश्याम सिंह, चिंटु मिश्रा, मुकेश मिश्रा आदि प्रमुख रुप से मौजूद रहे। रामनवमी जुलूस में शामिल श्रद्धालु भगवा ध्वज के साथ तो थे ही साथ ही सैकड़ों लोंगो के हाथों में तिरंगा झंडा भी था। इनके द्वारा जय श्री राम के साथ साथ वंदे मातरम, भारत माता की जय के नारे भी लगाये जा रहे थे। रामनवमी जुलूस में शामिल लोंगो के लिए प्रायःसभी मुहल्लों में स्थानीय लोंगो द्वारा शुद्ध पेयजल, नाश्ता या शर्बत का प्रबंध किया गया था। इसके कारण जुलूस में शामिल विशाल जनसैलाब को कुछ राहत महसूस हुआ।

Leave a Reply