भाकपा माले का दो दिवसीय अनसन हुआ संपन्न

संतोष अमन की रिपोर्ट:-

चम्पारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के अवसर पर भाकपा माले का ग्रामीण खेत मजदूर सभा एवं किसान महासभा के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित भूमि अधिकार दिवस सत्याग्रह के अंतर्गत अनुमंडल कार्यालय दाउदनगर के समक्ष दो दिवसीय अनशन कार्यक्रम शुक्रवार को समाप्त हुआ। अनशन पर बैठे जिला सचिव राजकुमार भगत, अर्जुन प्रसाद सिंह, कैलाश चंदेल, अलकारी देवी व जयहिनता देवी को अनशन समाप्त कराया गया। भाकपा माले के प्रखंड सचिव मदन प्रजापति की अध्यक्षता एवं ओबरा प्रखंड सचिव मुनारिक राम की देखरेख में आयोजित धरना में ललन यादव, कामता प्रसाद एवं अन्य द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। भाकपा माले के जिला सचिव जनार्दन प्रसाद सिंह ने कहा कि सरकार किसानों व मजदूरों के साथ अन्याय कर रही है। आज किसान घाटे की खेती करने पर विवश हैं। 11 सूत्री मांगों से संबंधित ज्ञापन भी एसडीओ को सौंपा गया। ज्ञापन में जो गरीब जहां बसे हैं वहीं उन्हें बासगीत पर्चा देने व गरीबों को एक-एक एकड़ खेती योग्य जमीन देने, भूमि आयोग की अनुशंसा लागू करने, बंटाईदार किसानों का निबंधन करने, कृषि योग्य भूमि को नदियों के कटाव से बचाने, सोनपुल निर्माण से प्रभावित किसानों की अधिग्रहित ऊपजाऊ जमीन का उचित मुआवजा देने, दाउदनगर में बस पडाव नहीं होने के कारण तत्काल बाजार समिति परिसर में बस पड़ाव करने, दाउदनगर नासरीगंज के बीच निर्माणाधीन सोनपुल का नामकरण शहीद भगत सिंह एवं भखरूआं चौक का नामकरण शहीद जगतपति कुमार के नाम पर करने, बिहटा से दाउदनगर होते औरंगाबाद तक रेलवे लाईन का निर्माण कराने समेत अन्य मांगे की गई है। इस मौके पर पूर्व मुख्य पार्षद धर्मेन्द्र कुमार, बिरजु चैधरी, नारायण राम, मानमति देवी, द्वारिक पासवान आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

Leave a Reply