भगत सिंह और अम्बेदकर के विचारों को जन-जन तक पहुँचाना बेहद ज़रूरी ।


“भगत सिंह और अम्बेदकर के विचारों को लेकर ही आधुनिक भारत का निर्माण किया जा सकता है ।भगत सिंह ने बहुत कम उम्र -महज 23वर्ष की उम्र में ही अपनी कुर्बानी दे कर हम भारतीयों के लिए- खासकर युवाओं के लिए -जो वैचारिक विरासत छोड़ी है उससे हिंदुस्तान का कायाकल्प किया जा सकता है “-उक्त बातें शहीद-ए-आज़म भगत सिंह सामाजिक विकास संस्थान के संयुक्त सचिव प्रो राजकमल कु.सिंह ने आज दिनांक :-30-03-2017को ,यहाँ कुर्मी टोला वार्ड न :-09में आयोजित शहीद चर्चा में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कही ।शहादत पखवारा के तहत किये जा रहे शहीद-चर्चा का यह सातवां दिन था ।इस चर्चा के तहत आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए पूर्व चेयरमैन श्री धर्मेन्द्र कुमार ने कहा कि आज देश में व्याप्त अंधविश्वास ,रुढ़िवाद और पोंगापंथ को समाप्त करने के लिए भगत सिंह और अम्बेदकर के विचारों को जन-जन तक पहुँचाना बेहद ज़रूरी है ।इनके अलावे सभा को संस्थान के अध्यक्ष श्री कृष्णा प्र चंद्रवंशी ,सचिव श्री सत्येन्द्र कुमार ,कार्यकारिणी सदस्य श्री महेन्द्र राम ,कोषाध्यक्ष श्री संजय कु सिंह ,अमन कुमार ,इत्यादि लोगों ने भी सम्बोधित किया ।सभा की अध्यक्षता श्री विजय कु शर्मा तथा संचालन श्री संजय कुमार सिंह ने किया ।सभा देर रात तक चली ।सभा में स्थानीय वार्ड पार्षद वार्ड न :-09श्रीमती मंजु सिंह ,वरीय अधिवक्ता श्री ललन प्र सिंह तथा अरविंदो मिशन स्कूल के प्रिंसिपल श्रीमती सुषमा सिन्हा के अलावे कई लोग-खासकर छात्र-युवा- बड़ी संख्या में शामिल थे ।

Leave a Reply