प्रधानाध्यापक और शिक्षक के विवाद में बर्बाद हो रहा छात्रों का भविष्य-अभाविप 


 आज मंगलवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का एक शिष्टमंडल जिला संयोजक सौरभ सिंन्हा के नेतृत्व में फेसर के बसडीहा इंटर स्कूल में प्राचार्य को विद्यालय के समस्याओं को लेकर मांग पत्र सौंपा। जिला संयोजक सौरभ सिन्हा ने बताया कि फेसर पंचायत का एकमात्र इंटर विद्यालय बसडीहा हाईस्कूल है जहां लगभग 1500 की बड़ी संख्या में छात्र -छात्रा पढ़ते हैं किंतु अभी तक इस विद्यालय में कई प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध नहीं है ।बड़ी संख्या में छात्राओं के नामांकन के बावजूद भी यहां एक भी छात्रा शौचालय नहीं है ,नहीं बिजली की व्यवस्था, नहीं पानी की व्यवस्था है।लगातार शिक्षकों की मनमानी एवं देर से आना, प्राचार्य एवं शिक्षक विवाद के कारण छात्र-छात्राओं के पढ़ाई में बाधा उत्पन्न हो रही है और छात्रों का भविष्य बर्बाद हो रहा है ।जल्द से जल्द यदि इन विषयों पर कार्रवाई नहीं की गई तो अभाविप मजबूरन आंदोलन पर उतारू होगा और इसका जिम्मेवार   विद्यालय प्रशासन होगी। यहां पर लगातार प्रधानाध्यापक और शिक्षकों के बीच में विवाद होता रहता है। कई शिक्षक कई -कई दिनों तक अनुपस्थित रहते हैं। साथ ही छात्रों से प्रैक्टिकल एवं अन्य व्यवस्थाओं के लिए अवैध वसूली किए जाते हैं ।इस पर जब प्रचार्य रामकिशोर सिंह से बात की गई तो उन्होंने स्कूल के लेटर पैड पर अपनी समस्याओं को अपने हस्ताक्षर व मोहर के साथ अभाविप के शिष्टमंडल को सौंपते हुए बताया कि पूर्व प्रधानाध्यापक शम्स आलम 31/8 /2016 को सेवानिवृत्त हो गए परंतु आज तक उन्होंने संपूर्ण प्रभार उन्हें नहीं सौंपा हैं इस संबंध में मैं कई बार जिला शिक्षा पदाधिकारी को आवेदन दे चुका हूँ। दिनांक 23/03/2017 को डीपीओ माध्यमिक शिक्षा औरंगाबाद विद्यालय निरीक्षण करने आए और श्री शम्स आलम को 31/3 /2017 तक संपूर्ण प्रभार मुझे देने का आश्वासन दिया । अभाविप के मांग पत्र के संबंध में कहना है कि आज तक मेरे नाम से विद्यालय के खाता परिवर्तन नहीं किया गया जिस से निकासी का कार्य नहीं हो रहा है इसके कारण विद्यालय संचालन में काफी परेशानी हो रही है। विद्यालय में पदस्थापित  शिक्षक श्री पंकज कुमार द्वारा विद्यालय का शैक्षणिक माहौल गंदा कर दिया गया है ,जबसे विद्यालय में आए हैं केवल राजनीत करते हैं, आदेश की अवहेलना करते हैं, इनके इस हरकत से अन्य शिक्षक के पठन -पाठन का माहौल प्रभावित हो रहा है ।इनके उपस्थिति कॉलम में अनुपस्थित भरने पर जोर- जबरदस्ती से उपस्थिति दर्ज करते हैं ,कभी ब्लेड  से उपस्थिति कालम में छेड़छाड़ करते हैं। इसकी सूचना मैं जिला शिक्षा पदाधिकारी को भी आवेदन के द्वारा अवगत करा दिया हूं तथा इसके प्रतिलिपि उप विकास आयुक्त सह कार्यपालक पदाधिकारी जिला परिषद औरंगाबाद को दी गई है फिर भी उनके आचरण में सुधार नहीं हो रहा है जिसे पूरा शैक्षणिक माहौल प्रभावित हो गया है। प्रधानाध्यापक ने छात्र संगठन एबीवीपी के लोगों से कहा कि इन पर अविलंब कार्रवाई की मांग की जाए ताकि छात्र -छात्राओं का शैक्षणिक हित हो सके ।इस अवसर पर सौरव सिंह ,रिशब दुबे ,हेमंत सिंह ,सुशील कुमार चंदन कुमार ,सुमित समेत विद्यालय के कई छात्र -छात्राएं उपस्थित थे।

Leave a Reply