दस महीने से नहीं मिला है मानदेय

दाउदनगर सीडीपीओ कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन करती आंगनबाडी सेविकाएं व सहायिकाएं

संतोष अमन की रिपोर्ट:

बिहार राज्य आंगनबाडी कर्मचारी यूनियन की दाउदनगर शाखा द्वारा सोलह सूत्री मांगों को लेकर बाल विकास परियोजना कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन करते हुये धरना दिया गया। अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगाये गये। प्रखंड अध्यक्ष इंदु देवी ने कहा कि 28 मार्च मंगलवार को बाल विकास परियोजना कार्यालय में तालाबंदी कर दी जाएगी। 31 मार्च तक प्रखंड स्तर पर धरना दिया जाएगा। इसके बाद 3 से 7 अप्रैल तक जिला मुख्यालय में धरना प्रदर्शन किया जाना है। उन्होंने कहा कि सरकार आंगनबाडी सेविकाओं, सहायिकाओं की उपेक्षा कर रही है। दस महीने से मानदेय नहीं मिला है। उनकी मांगों में गोआ, तेलांगना की भांति बिहार सरकार द्वारा भी सेविका को सात हजार व सहायिका को 45 सौ अतिरिक्त प्रोत्साहन मानदेय राशि देने, सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने, जब तक सरकारी कर्मचारी का दर्जा नहीं मिलता तब तक सेविका को 18 हजार व सहायिका को 10 हजार मानदेय देने, 8 घंटा काम का समय निर्धारित करने, सेवानिवृति की उम्र सीमा 65 वर्ष करने व सेवानिवृति के पश्चात पांच हजार रूपया मासिक पेंशन या पांच लाख रूपया एक मुस्त देने, स्वास्थ्य चिकित्सा सुविधा एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा सुविधा उपलब्ध कराने समेत सोलह सूत्री मांगे शामिल हैं। धरना प्रदर्शन में प्रखंड सचिव रीना देवी, चंचला देवी, चंद्रकांता देवी, निर्मला देवी, कलावती देवी, रेणु देवी के अलावे अरविंद कुंमार सिंह, बिपिन बिहारी सिंह, मृत्यूंजय सिंह, संजय सिंह आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Leave a Reply