बिहार की उपेक्षा कर रही है केंद्र सरकार

बैठक में उपस्थित जदयू के वरिष्ठ नेता प्रमोद सिंह चंद्रवंशी एवं अन्य

संतोष अमन की रिपोर्ट:

केंद्र सरकार लगातार बिहार की उपेक्षा कर रही है। लोकसभा चुनाव के समय किये गये घोषणा के अनुसार सवा लाख करोड़ का पैकेज आज तक बिहार को नहीं मिला। राष्ट्रीय उच्च पथ में बिहार सरकार ने 12 सौ करोड़ रूपये खर्च किये। यह राशि भी केंद्र सरकार द्वारा बिहार को नहीं दी गई। कुछ कठिनाईयों के बावजूद अपने संसाधनों के बदौलत बिहार तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। उक्त बातें जदयू के वरिष्ठ नेता प्रमोद सिंह चंद्रवंशी ने स्थानीय पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित करते हुये कही। उन्होंने बिहार के गौरवपूर्ण इतिहास की चर्चा करते हुये कहा कि बिहार दिवस राज्य के स्वाभिमान का दिवस है। इस दिन सभी कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के सात निष्चय को पूरा कराने व धरातल पर उतारने के लिए कृतसंकल्पित रहने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं के मान-सम्मान का ख्याल रखते हुये जल्द ही 20 सूत्री, निगरानी, स्वास्थ्य, प्रखंड व जिला स्तर पर नागरिक परिषद, पंचायत स्तर पर निगरानी आदि कमेटियों का गठन होगा। अध्यक्षता करते हुये जदयू प्रखंड अध्यक्ष रामानंद चंद्रवंशी ने पंचायत अध्यक्षों को सक्रिय सदस्यों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा। प्रखंड सचिवों को विभिन्न पंचायतों का प्रभार दिया गया। चार प्रखंड उपाध्यक्षों को सप्ताह में दो-दो दिन पार्टी कार्यालय में अनिवार्य रूप से बैठने के लिए कहा गया। इस मौके पर विनय उर्फ अभय चंद्रवशी, विजय पासवान, जीतेन्द्र नारायण सिंह, शैलेश यादव, अनिल चंद्रवंशी, योगेन्द्र वर्मा, अजय कुमार, मो. गुडडू, पवन पटेल, सुषमा सिंहा समेत अन्य नेता व कार्यकर्ता मौजूद थें।

Leave a Reply