बच्चों के लिए बहुत हीं जरुरी है जे.ई.का टीका


दाउदनगर, 23 मार्च

    टीकाकरण के माघ्यम से हमलोग बच्चों को कुई लाईलाज व जानलेवा बिमारियों जैसे-तपेदिक (टी.वी.),पोलियो, हेपेटाइटिस बी,कुकुर खांसी, कालीखांसी, टेटनस, निमोनिया,खसरा व मस्तिष्क ज्वर.से बचाते है । इनमें से सबसे अघिक लाईलाज व जानलेवा बीमारी मस्तिष्क ज्वर अर्थात दिमागी बुखार है जो बच्चों को ज्यादातर अप्रैल से दिसम्बर माह के बीच होती है ।

        उपरोक्त बातें पाथ के प्रखंड मोनिटर अरविन्द कुमार सिन्हा ने हसपुरा प्रखंड के सोनहथु गाँव में आंगनबाड़ी केन्द्र संख्या 50 एवं 122 पर आयोजित सामुदायिक बैठक में उपस्थित किशोरी बालिकाओं व महिलाओं को ए.इ.एस.बिमारियो एवं टीकाकरण के प्रति जागरूक करते हुए कही ।

      श्रीसिन्ह ने बताया कि मस्तिष्क ज्वर बीमारी से बचने के लिए नौ माह से दो साल के बीच के बच्चो को जे.ई. के दो टीका दिलवाना बहुत हीं जरूरी है ।यह मच्छरजनित बीमारी है जो क्यूलेक्स नामक मादा मच्छर के काटने से एक से पन्द्रह वर्ष के आयुवर्ग के बच्चों को होती है । इस बीमारी में मरीज में तेज बुखार के साथ उल्टी,कँपकँपी,बेहोशी, नींद में बड़बड़ाना,गर्दन का लटक जाना,मूँह से झाग आना,चमकी आना, कमजोरी व सुस्ती के लक्षण दिखाई पड़ते हैं । ऐसी स्थिति में रोगी को ठंडे पानी की पट्टी देना चाहिए और उसे अतिशीध्र निकटतम सरकारी  अस्पताल भेजना चाहिए । 

         बैठक में सेविका राधा कुमारी, प्रमिला कुमारी व सहायिका सुर्या देवी सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे ।

Leave a Reply