दाऊदनगर टाउन हॉल में श्र्धांजलि सभा का आयोजन किया गया

आज दिनांक 23 मार्च 2017 को  दाऊदनगर के टाउन हॉल में  “ज़रा याद करो क़ुरबानी” तथा “इंक़लाब ज़िंदाबाद” कर नारों के साथ शहीद-ए-आज़म भगत सिंह, राजगुरु एवं सुखदेव का शहादत दिवस जोशो-खरोस के साथ मनाया गया। इस अवसर पर उपस्थित नर-नारियों एवं स्कूली बच्चों ने इन तीनों शहीदों के साथ साथ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े तमाम शहीदों को भावभीनी श्रधा अर्पित किया। मौन धारण कर शहीदों को श्रधांजलि देते हुए उन्हें पुष्पांजलि भी दी गई।

सभा का उद्घाटन करते हुए डॉक्टर अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि आज हमारे देश में भगत सिंह के विचारों की प्रसंजिकता सबसे ज़्यादा है क्योंकि देश में साम्राज्यवाद का हमला परोक्ष रूप से जारी है। सभा के मुख्य वक़्त कोमरेड अनवर हूसेन ने कहा कि भगत सिंह के विचारों में ही इतनी ताक़त है कि देश को ना सिर्फ़ जोड़कर रख सकती है बल्कि विभाजन के फलस्वरूप जो टुकड़े हुए उसे फिर से वापस जोड़ कर जर्मनी और इटली के एकीकरण की तरह भारत के टुकड़े का एकीकरण कर सकती है क्यूँकि भगत सिंह को सिर्फ़ भारत में ही नहीं बल्कि पाकिस्तान एवं बांग्लादेश में भी याद किया जाता है।

सभा का संचालन को संस्था के सचिव सत्येन्द्र कुमार एवं मशहूर शिक्षक डॉक्टर महफ़ूज़ आरिफ़ इलयासी ने किया। सभा में डॉक्टर जनार्दन प्रसाद, सत्येंद्र कुमार, राजकुमार,  धर्मेंद्र कुमार, सत्येंद्र सिंह, योगेन्द्र राम, सुषमा सिन्हा, मीना देवी तथा अन्य लोग शामिल थे। इस सभा की अध्यक्षता कृष्णा प्रसाद चंद्रवनसी ने किया।

Leave a Reply