अधिकारियों के खिलाफ न्यायालय ने लिया संज्ञान

दाउदनगर अनुमंडल के उपहरा थाना क्षेत्र के बेला में बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने के मामले में विशेष न्यायाधीश सह अपर जिला व सत्र न्यायाधीश प्रथम औरंगाबाद के न्यायालय में बेला निवासी नीतीश कुमार द्वारा परिवाद दाखिल किया गया है। जिसमें एसडीओ राकेश कुमार, एसडीपीओ संजय कुमार व गोह के सीओ सुनील कुमार पर गंभीर आरोप लगाया गया है। परिवाद में आरोप लगाया गया है कि इन पदाधिकारियों ने जेसीबी से बाबा साहब की प्रतिमा को तोड़वाया और उसके बाद जबरन हस्ताक्षर कराया कि जेसीबी से प्रतिमा नहीं तोड़वाया गया है। सूचक ने कहा है कि बेला में तीन मुंह के समीप 33 वर्ष पूर्व 1984 में बाबा साहब की प्रतिमा तत्कालीन विधायक रामशरण यादव ने स्थापित कराया था। यह सीमेंट का बना हुआ था। यहां हर साल 14 अप्रैल व 6 दिसंबर को प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाये जाते हैं। गत 23 फरवरी को सीओ ने आकर प्रंतिमा हटा लेने के लिए कहा। ऐसा नहीं करने पर आरोपित पदाधिकारियों ने पुलिस बल के साथ आकर प्रतिमा को तोड़ दिया। परिवाद में कहा गया है कि इससे अनुसूचित जाति की भावनाओं को ठेस पहुंचा है।

Leave a Reply