नली नालियों की साफ-सफाई जरूरी

बैठक में शामिल एएनएम व आशा कार्यकर्ता॔

संतोष अमन की रिपोर्ट:

स्थानीय पीएचसी में आयोजित एएनएम व आशा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की बैठक में पाथ के प्रखंड माॅनिटर अरविंद कुमार सिंहा ने कहा कि यदि किसी भी बच्चे को तेज बुखार के साथ उल्टी, कपकपी, बेहोशी, नींद में बडबड़ाना, चमकी आना, शरीरी में असामान्य लक्षण दिखाई देना, गर्दन का लुढ़क जाना, मुंह से झाग आना, कमजोरी व सुस्ती जैसे लक्षण दिखाई दे तो उसे नजरअंदाज नहीं करें क्योंकि यह मादा क्यूलेक्स नामक मच्छर के काटने से होने वाली लाईलाज व खतरनाक बीमारी मस्तिष्क ज्वर भी हो सकती है। मस्तिष्क ज्वर के रोगी को प्राथमिक उपचार के तौर पर ठण्डे पानी की पट्टी देना चाहिए और रोगी को जल्द से जल्द नजदीकी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचाना चाहिए। बीमारियों से बचने के लिए अपने घरों व उसके आसपास के इलाके सहित नली-नालियों की साफ-सफाई करनी चाहिए। रात में सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करना चाहिए। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक विकास शंकर, बीसीएम शशिकांत कुमार, डब्लूएचओ माॅनिटर सोहैल खान प्रमुख रूप से मौजूद रहें।

Leave a Reply