खुलेआम हो रही मांस की बिक्री, जिला पदाधिकारी को सौंपा पत्र

दाउदनगर में सड़क किनारे जगह-जगह पर पशु मांस उत्पादों की विक्री को हटाने के संबंध में जिला पदाधिकारी समेत अनुमंडल पदाधिकारी दाउदनगर व कार्यपालक पदाधिकारी को एक लिखित आवेदन दिया गया है, जिसमें लगभग सैकड़ो आम जनता सहित सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा हस्ताक्षरित आवेदन के माध्यम से बताया गया है कि दाउदनगर के मुख्य सड़क मगध होटल से लेकर भखरुआं मोड़ तक जगह-जगह मुर्गा एवं मांस की बिक्री खुलेआम की जाती है। इसके बीच अवस्थित दाउदनगर का प्रसिद्ध हनुमान मंदिर के बगल में भी बिक्री की जाती है, जो गैर कानूनी तथा बिहार नगरपालिका अधिनियम- 245 (2) का उल्लंघन है। उच्चतम न्यायालय के आदेश संख्या- 330/2001, 309/2003, 44/2004 तथा 668/2007 एव उच्च न्यायलय के आदेश संख्या- c.w.j.c no. 9693/2013 द्वारा ऐसी दुकानों को हटाने का आदेश दिया जा चूका है। इस संबंध में सचिव के पत्रांक- 03/06.01.2014 एवं पत्रांक- 03/18.06.2014, पत्रांक- 3539/01.12.2014 एवं प्रधान सचिव के पत्रांक- 4932/08.12.2015 में भी आदेश दिया गया है, लेकिन आज तक उक्त दुकानों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गई है। आदेशानुसार खुले में पशु-मांस, कुक्कुट बिक्री की दुकान को संवेदनशील स्थल जैसे स्कूल एवं धार्मिक स्थान के निकट नहीं खोलना है तथा बिक्री स्थल को काले कपडे लटका कर या चीक लगाकर आम लोगों की नजर से ओझल रखना है। सार्वजनिक स्थल पर वध करना मनाही है। ज्ञात हो कि पूर्व में भी विवेकानंद मिश्र द्वारा 11 नवंबर को पत्र सौंपी जा चुकी है।

Leave a Reply