मंदिर परिसर में ही किया जाएगा पुनर्गठन

संतोष अमन की रिपोर्ट:

हनुमान मंदिर की वर्षो पुरानी कमेटी की बैठक सोमवार की रात अध्यक्ष मुनीलाल प्रसाद के घर पर उनके अस्वस्थ रहने के कारण की गई। अध्यक्ष ने बढ़ती उम्र व अस्वस्थता कारण बताते हुये इस्तीफा दे दिया। बैठक में निर्णय लिया गया कि बुधवार को मंदिर परिसर में ही मंदिर कमेटी का पुनर्गठन किया जाएगा, तब तक यही कमेटी काम करेगी।

बैठक में उपस्थित राजाराम प्रसाद व मुन्ना शर्मा ने बताया कि हिसाब दिया गया। इनके अनुसार मंदिर के बैंक खाते में करीब 5 लाख 75 हजार रूपये हैं। रामजी प्रसाद केसरी के पास नगदी एक हजार रूपये हैं। बैठक में अन्य बिंदुओं पर भी चर्चा की गई। कोषाध्यक्ष रामजी प्रसाद, कुमार नरेन्द्र देव, सूरज पांडेय, अटल बिहारी, गोपाल प्रसाद गुप्ता, वीरेन्द्र प्रसाद सर्राफ आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

मुन्ना शर्मा एवं राजाराम प्रसाद ने कहा कि समानांतर कमेटी गठन करने वालो ने मंदिर में ही नहीं शहर में भी अराजकता लाने का प्रयास किया है। श्री शर्मा ने कहा कि यदि किसी को किसी तरह की आपति थी, तो कमेटी की बैठक में उपस्थित होकर अपनी बात रखनी चाहिए थी। खासकर नाथु प्रसाद जैसे व्यक्ति जब बैठक में आते थे, तब कोई शिकायत नहीं थी और दूसरी कमेटी में अध्यक्ष बन गये। राजाराम प्रसाद ने कहा कि पूर्व की बैठक में निर्णय लिया गया था, कि मंदिर को धार्मिक न्यास बोर्ड से जोड़ा जाएगा। पुनर्गठन के बाद इस पर विचार किया जाएगा और पूरी कोशिश होगी कि मंदिर बिहार राज्य धार्मिक न्यास बोर्ड से संबद्ध हो जाये।

Leave a Reply