वरिष्ठ रंगकर्मियों के सम्मान कार्यक्रम का विरोध

विश्व रंगकर्म दिवस 27 मार्च के अवसर पर धर्मवीर फ़िल्म एंड टीवी प्रोडक्शन, प्रबुद्ध भारती और नाट्य भारती ग्रुप द्वारा सामूहिक रूप से आयोजित दाउदनगर कला शिखर सम्मान और नाट्यकला प्रतियोगिता कार्यक्रम को फ़िलहाल स्थगित कर दिया गया है।

फ़िल्म डायरेक्टर सह रंगकर्मी धर्मवीर भारती ने बताया कि दाउदनगर कला शिखर सम्मान के लिए दाउदनगर के करीब दो दर्जन वरिष्ठ रंगकर्मियों के साथ औरंगाबाद के कपिलदेव संगीत महाविद्यालय के प्राचार्य दिनेश पांडेय, वरिष्ठ कत्थक नृतक देवबली सिंह और फिल्म निर्देशक सह रंगकर्मी आफ़ताब राणा के नाम को भी सर्वसम्मति से शामिल किया गया था बाद में जिसका विरोध डॉ एस पी सुमन और वरिष्ठ रंगकर्मी द्वारिका प्रसाद और अन्य वरिष्ठ कलाकारों ने जम कर  किया की ये दाउदनगर के निवासी नहीं है।

धर्मवीर भारती ने बताया कि राष्ट्र का सबसे बड़ा सम्मान भारत रत्न गैर नागरिक को भी दिया जाता रहा है जिसमे नेल्सन मंडेला और खान अब्दुल गफ्फार खान का नाम शामिल है। इस तरह से श्रेष्ठ काम का विरोध करने वालोँ की यह छोटी और कुंठित मानसिकता का परिचय है।

प्रबुद्ध भारती के निदेशक मास्टर भोलू ने कहा कि धर्मवीर भारती के साथ मिलकर प्रबुद्ध भारती ने कम समय में काफी उपलब्धियां अर्जित की है, और हम साथ मिलकर आगे भी काम करेंगे।

सीनियर कलाकार संजय तेजस्वी ने बताया कि धर्मवीर भारती के नेतृत्व में प्रबुद्ध भारती और नाट्य भारती ने सामूहिक रूप से  देहरादून की अंतर्राष्ट्रीय और कोलकाता, शिमला की राष्ट्रीय स्तर की नाट्य प्रतियोगिताओं में विजेता रहा और कई सारी डॉक्यूमेंट्री फिल्म का निर्माण किया है जो हमारी टीम के कला कैरियर में बहुत बड़ी उपलब्धि है।

प्रबुद्ध भारती के सीनियर कलाकार और लोक गायक संदीप सिंह ने बताया कि हमारी टीम जब भी किसी कार्यक्रम में कुछ वरिष्ठ कलाकारों को शामिल किया वे हम युवा कलाकारों को मार्गदर्शन न कर उलझने और भटकाने की कोशिश करते हैं अपने बातों को ज़बरदस्ती थोपने का प्रयास करते हैं, विवाद करते है। इस कारण हमलोग इनके साथ काम करने से कतराते हैं। अब नई टीम का गठन कर दाउदनगर कला शिखर सम्मान और नाट्यकला प्रतियोगिता का आयोजन नयी निर्धारित तिथि को किया जाएगा।

Leave a Reply