एक ही वीक्षक से कराया जा रहा वीक्षण

संतोष अमन की रिपोर्ट:

दाउदनगर के हाता मध्य विद्यालय परीक्षा केंद्र पर एक रूम में एक ही वीक्षक से वीक्षण कार्य कराया जा रहा है। इसकी शिकायत करते हुये टीईटी एसटीईटी उतीर्ण नियोजित शिक्षक संघ के प्रखंड अध्यक्ष बसंत कुमार सिंह ने पत्रकारों से की। इन्होंने कहा कि एक कमरे में एक वीक्षक कैसे कदाचारमुक्त परीक्षा संपन्न करवा सकता है। इन्होंने आरोप लगाया कि वीक्षकों का नाश्ता का पैसा भी केंद्राधीक्षक द्वारा बचाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि एक पाली में डयूटी करने पर नाश्ता का पैसा नहीं दिया जाएगा। जो महिला शिक्षिका चलंत में डयूटी कर रही हैं उन्हें न तो डयूटी का पैसा दिया जाएगा और न ही नाश्ते का। इतना ही नहीं बल्कि जो शिक्षक इसका विरोध कर रहे हैं उन्हें यह कहकर बीआरसी लौटा दिया जा रहा है कि महिला परीक्षार्थी का सेंटर है, इसलिए पुरूष वीक्षण नहीं करेंगे। श्री सिंह ने सवाल उठाया है कि जब छात्राओं के सेंटर पर यदि पुरूष शिक्षक वीक्षण नहीं कर सकते हैं तो क्यों पुरूष वीक्षक को भेजा जाता है?

जांच में पाया गया सत्य

श्री सिंह की शिकायत के बारे में स्थानीय मीडियाकर्मियों ने एसडीओ राकेश कुमार से पूछा तो उन्होंने इसकी जांच स्वयं की। एसडीओ ने बताया कि जांच के दौरान आरोप को सत्य पाया गया है। एक कमरे में 28 परीक्षार्थी थे और एक ही वीक्षक को लगाया गया था। केंद्राधीक्षक को इसमें सुधार लाने का निर्देश दिया गया है। इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को दिया गया है।

Leave a Reply