पंचायत समिति को कार्यान्वयन एजेंसी बनाने हेतू लिखा पत्र

संतोष अमन की रिपोर्ट:

औरंगाबाद जिला प्रमुख संघ के अध्यक्ष सह हसपुरा प्रखंड प्रमुख संजय मंडल ने डीएम को पत्र लिखकर मनरेगा में पंचायत समिति को भी कार्य एजेंसी बनाने की मांग की है। श्री मंडल ने पत्र में डीएम का ध्यान आकृष्ट कराते हुये कहा है कि ग्रामीण विकास विभाग बिहार द्वारा पत्रांक-166678 दिनांक 22 अक्टूबर 2013 द्वारा आदेश दिया गया था कि मनरेगा का कार्य एजेंसी ग्राम पंचायत के अलावे पंचायत समिति व जिला परिषद भी रहेगा। पुनः 14 दिसंबर 2016 को ग्रामीण विकास विभाग के निदेशक ने सभी जिलों के कार्यक्रम पदाधिकारी को इस आशय का निर्देश दिया था। औरंगाबाद जिला के किसी भी प्रखंड के कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा इस आदेश का अनुपालन नहीं किया जा रहा है। श्री मंडल ने यह जानकारी एक प्रेस बयान जारी कर देते हुये कहा है कि मनरेगा कार्य एजेंसी कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा केवल ग्राम पंचायत में रखा गया है। पंसस एवं जिला परिषद का अभिलेख भी ग्राम पंचायत द्वारा खोला जा रहा है जो न्याय संगत नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि कार्यक्रम पदाधिकारी मुखिया, पंचायत समिति एवं जिला परिषद के बीच सामंजस्य नहीं होने दे रहे हैं जिससे गांव का विकास नहीं हो पा रहा है तथा जन प्रतिनिधि आपस में टकराव करते रहते हैं। उन्होंने पत्र में एक अन्य जिला के डीएम के आदेश की छायाप्रति पत्र के साथ संलग्न करते हुये मनरेगा में अलग-अलग कार्य एजेंसी क्रमशः ग्राम पंचायत, पंचायत समिति एवं जिला परिषद का अभिलेख खोलने का आदेश सभी पदाधिकारी को देने की मांग डीएम से की है।

Leave a Reply