अगलगी की घटना में तीन घर जलकर हुये राख

संतोष अमन की रिपोर्ट:

दाउदनगर प्रखंड के केसरारी गांव में अगलगी की घटना में तीन गरीबों का घर जलकर राख हो गया। घटना शनिवार के देर रात की है। बताया जाता है कि केसरारी गांव निवासी राजेंद्र राजवंशी के घर में अचानक आग लग गई। इनके साथ-साथ राजगीर राजवंशी व महाबीर राजवंशी का घर भी जलकर राख हो गया। ग्रामीणों ने किसी प्रकार आग पर काबू पाया। आग बुझाने के क्रम में राजेंद्र राजवंशी जख्मी भी हो गये, जिनका ईलाज निजी स्तर पर ग्रामीणों के सहयोग से कराया गया। सोमवार को मदद के लिए आवेदन लेकर वह प्रखंड सह अंचल कार्यालय पहुंचा था। इस घटना में राजेंद्र राजवंशी की दो बकरी भी जलकर मर गई तथा तीनों के घर में रखा सारा सामान भी जलकर राख हो गया।

बेटी की शादी की थी तैयारी– अग्नि पीड़ित राजेंद्र राजवंशी अपनी बेटी रेखा की शादी की तैयारी में जुटा हुआ था। उसकी चार बच्चियां व तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं। उसने बताया कि अपने कमाये पैसे से बच्ची की शादी के लिए सामान खरीदकर रखा था। तिलक में खर्च करने के लिए करीब पांच हजार रूपया नगद रखा हुआ था। पेशगी देने के लिए भी पैसे रखे हुये थे, वह भी जलकर राख हो गया। वहीं राजगीर राजवंशी के भी एक पुत्र व दो पुत्री और महाबीर राजवंशी के भी तीन पुत्र व एक पुत्री है। तीनों के पास खाने के लिए भी कुछ नहीं बचा है।

भाजपा नेताओं ने की सहायता

सोमवार की शाम भाजपा के वरिष्ठ नेता अश्विनी कुमार तिवारी एवं फेयर प्राईस डीलर एसोसिएशन के जिला सचिव सह भाजपा के दाउदनगर मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह यादव ने अग्नि पीड़ित परिवार से मुलाकात की। श्री यादव ने बताया कि डीलर उदय प्रताप सिंह से तत्काल राहत के रूप में अग्नि पीड़ित परिवार को 50 किलो चावल दे दिया गया है। वहीं श्री तिवारी ने कहा कि अफसोस की बात है कि अभी तक सरकारी स्तर पर कोई राहत पीड़ित परिवार को नहीं उपलब्ध कराई गई है। इस मौके पर भाजपा के पंचायत अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह, भाजयूमो नेता विवेकानंद मिश्र, सुनील दूबे, सदाम वर्मा प्रमुख रूप से मौजूद थें।

Leave a Reply