प्रशासन पर दलित विरोधी नीति अपनाने का लगाया आरोप

       प्रेस वार्ता करते जाप के प्रदेश प्रवक्ता श्याम सुंदर

संतोष अमन की रिपोर्ट:

जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के प्रदेश प्रवक्ता श्यामसुंदर ने प्रशासन पर दलित विरोधी नीति अपनाने का आरोप लगाते हुये कहा है कि दाउदनगर अनुमंडल के उपहारा थाने में जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं पर किये गये मुकदमे के विरोध में 25 फरवरी शनिवार को गोह बंद का आयोजन किया गया है। उन्होंने दाउदनगर में आयोजित एक प्रेस वार्ता में कहा कि 37 साल पुरानी बाबा साहब भीमराव अंबेदकर की प्रतिमा रफीगंज बैदराबाद पथ के बेला गांव के समीप लगाई गयी थी, जिसे प्रशासन ने ट्रक के धक्के से तोड़वा दिया और प्रतिमा को चार माह तक हाजत में रखा गया। उसके बाद बाहर निकाला गया। प्रशासन ने धक्का मारने वाले ट्रक को जब्त किया और फिर कहा गया कि कैंपस से ट्रक फरार हो गया। ग्रामीण बाबा साहब अंबेदकर का सम्मान करते हुये उनकी प्रतिमा को स्थापित कर रहे थे, लेकिन प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट का हवाला देकर उसे लगाने से मना कर दिया और कार्यकर्ताओं पर झूठा मुकदमा दायर कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन की दलित विरोधी नीति जिले में चल रही है। ओबरा प्रखंड के डिहरा लाॅक पर वर्षो पूर्व बनाई गई प्रतिमा निर्माण स्थल को अनुमंडल प्रशासन ने ध्वस्त कर हटाने का काम किया। इसी प्रकार अन्य कई स्थलों से अंबेदकर प्रतिमा हटाई जा चुकी है। दुर्घटना का हवाला देकर बाबा साहब की प्रतिमा को हटाने का कार्य किया जा रहा है जो गरीबो, दलितों के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि जब हम शांतिपूर्वक वार्ता कर रहे थे तो बीच-बीच में प्रशासन द्वारा किससे बातें की जा रही थी? उसका सीडी सार्वजनिक करने की जरूरत है। लोदीपुर में रविंद्र पहलवान मामले में लोगों की गिरफ्तारी नहीं की जा रही। जब तक जाप कार्यकर्ताओं पर दायर किया गया झूठा मुकदमा प्रशासन वापस नहीं लेती है, तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। प्रेस वार्ता में दाउदनगर प्रखंड जाप अध्यक्ष गणेश कुमार, महादलित विकास मंच के अध्यक्ष टूल्लू रावत आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply